दो दिन की खींचतान के बाद कांग्रेस ने ब्यावरा से रामचंद्र दांगी को दिया टिकट

0
3

gajraj singh meena
राजगढ़। कांग्रेस पार्टी ने ब्यावरा विधानसभा सीट के लिए अंततः रामचंद्र दांगी को उम्मीदवार बनाया है। पिछले दो दिन से चल रही खींचतान के बीच पार्टी ने उन्हें टिकट दिया है। श्री दांगी का टिकट होने के साथ ही उनके समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई। कांग्रेस पार्टी से रामचंद्र दांगी, पुरुषोत्तम दांगी, चंदरसिंह सौंधिया एवं स्व. विधायक पुत्र डा. विश्वनाथ दांगी द्वारा टिकट की मांग की जा रही थी। जिसको लेकर पिछले दो दिन से नाम तय करने के लिए हाईकमान मशक्कत कर रहा था। बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने सभी से वन-टू-वन चर्चा की थी, लेकिन सामंजस नहीं बनने के चलते गुरुवार को प्रदेशाध्यक्ष कमल नाथ ने सभी दावेदारों से वन-टू-वन चर्चा की थी। इसके बाद रात में रामचंद्र दांगी के नाम का एलान कर दिया। श्री दांगी इसके पहले 2003 एवं 2013 में उम्मीदवार बनाए गए थे। लेकिन दोनों ही बार हार का सामना करना पड़ा था। इस बार फिर से पार्टी ने अपने जमीनी नेता पर दांव खेला है।

फिर आमने-सामने होंगे दोनों पुराने चेहरेः सात साल बाद एक बार फिर से वही दोनों पुराने चेहरे आमने-सामने होंगे। इसके पहले 2013 में कांग्रेस ने रामचंद्र दांगी व भाजपा ने नारायणसिंह पंवार को उम्मीदवार बनाया था। इसके बाद 2018 में भाजपा ने तो नारायणसिंह को मैदान में उतारा था, लेकिन कांग्रेस ने टिकट बदलकर गोवर्धन दांगी को दिया था। अब सात साल बाद एक बार फिर से श्री दांगी व श्री पंवार आमने-सामने चुनाव मैदान में नजर आएंगे।
श्री दांगी ने मात्र 22 साल की उम्र में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी और यह कृषि उपज मंडी के अध्यक्ष बने। इसके पश्चात वह जिला पंचायत सदस्य, पांच साल भूमि विकास बैंक के जिलाध्यक्ष भी रहे। इसके अलावा एक वर्ष से अधिक समय तक जिला पंचायत अध्यक्ष भी रहे। 2003 में इन्हें कांग्रेस ने विधानसभा उम्मीदवार बनाया था। यह साढ़े छह हजार वोट से बद्रीलाल यादव से परास्त हुए थे। 2009 से 2018 तक श्री दांगी जिला कांग्रेस अध्यक्ष भी रहे है।