कालोनी बना भूले विल्डर, रहवासियों का जीना मुश्किल

0
5

Praveen namdev

सिहोरा,  प्रशासनिक अनदेखी के चलते हरे भरे खेतों को जमींदोज कर तैयार किए गए सीमेंट काक्रीट के जंगल में स्वयं का आशियाना बनाने वाले नरकीय जीवन जीने मजबूर हैं। उल्लेखनीय है कि नगर की नई बसाहट पालीवाल कॉलोनी,प्रज्ञा बिहार, अंबा विहार,हनुमान पहाड़ी वार्ड नंबर 2 में नियमों को दरकिनार कर खेतों में तैयार की गई कालोनियों में जीवन भर की पूंजी निवेश करने का आशियाना बनाने वाले आज हल्की सी बारिश में अपने घरों में कैद रहने विवश हैं।

भू माफियाओं ने साफ सुथरी बसाहट का सपना दिखाकर भोले भाले लोगों को महंगे दाम पर प्लॉट बेचकर तो चांदी कूट ली किंतु आज तक इन कालोनियों के निवासियो को  मूलभूत सुविधा सड़क पानी बिजली गंदे पानी की निकासी जैसी अनेक समस्याओं का सामना करना पड रहा है। तीन दिवस से मेहरबान इंद्र देव के चलते नगर में हो रही रुक-रुक कर बारिश में इन कालोनियों के मार्ग या तो जल मग्न कर दिए या कीचड़ से सरावोर कर दिए। लाखों रुपए खर्च करके भी इन कालोनियों के बच्चे बरसात में अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे

भूमाफिया लाखों के बारे न्यारे कर वहाँ के निवासियो को उनके हाल पर छोड़ कर नए क्षेत्रों में संभावना तलाशने मशगूल हो गए वहीं प्रशासन ने उक्त क्षेत्रो को  अवैध कालोनियों का तगमा पहनाकर कर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली ऐसे में इन तथाकथित अवैध कालोनियों में निवासरत लोगों की समस्या का निराकरण ना हो पाने के कारण लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि नगर की पालक संस्था भारी भरकम संपत्ति कर वसूल कर नई बसाहट के प्रति दोयम दर्जा अपना रही है लोगो की परेशानी को दरकिनार कर अवैध कालोनियों में विकास कार्य न कराए जाने का हवाला देते दे रही है वहीं दूसरी ओर कृपा पात्रों को उपकृत करने निजी एवं ट्रस्ट की भूमि में भी सड़क नाली का निर्माण धड़ल्ले से कराया जा रहा है।