कलेक्टर मनीष सिंह ने खाद्य निरीक्षक को किया निलंबित

0
9

इंदौर, एमपी सीएम शिवराज सिंह चौहान कुछ दिन पहले इंदौर के दौरे पर थे। इंदौर दौरे के दौरान सीएम निर्धारित समय से लेट पहुंचे थे। साथ ही मौसम भी खराब था। इसलिए उन्हें सड़क मार्ग से भोपाल लौटना पड़ा था। देर होने की वजह से सीएम ने गाड़ी में खाना रखने के आदेश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश पर खाद्य निरीक्षक ने सीएम के लिए खाना पैक करवाया था। इस दौरान लापरवाही की बात सामने आई है।

सीएम के खाना पैक करवाने में प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया है। जानकारी के अनुसारा खाना के पैकेट खोलने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने नाराजगी व्यक्त की थी। खाना बिलकुल ठंडा था। साथ ही रोटियां ठंडी और सूख चुकी थी। इसके बाद सीएम ने इसकी शिकायत कलेक्टर से की थी। इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने सीएम की शिकायत पर खाद्य निरीक्षक मनीष स्वामी को निलंबित कर दिया है।

क्या है मामला
सीएम शिवराज सिंह चौहान इंदौर में कई विकास योजनाओं के शुभारंभ के लिए आए थे। उस दिन उन्हें शाम 6 बजे इंदौर पहुंचना था लेकिन रात को 8 बजे पहुंचे थे। लगातार कार्यक्रमों की वजह से उन्हें खाना का मौका नहीं मिला। इसके साथ ही मौसम खराब होने की वजह से सीएम सड़क मार्ग से भोपाल लौटना था। उन्होंने खाना पैक करवा कर अपनी गाड़ी में रखवाने के निर्देश दिए थे। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार खाद्य अधिकारी ने शाम 6 बजे ही खाना पैक करवा दिया। सीएम रात 9 बजे इंदौर से निकले और पैक किया हुआ खाना ठंडा हो गया और रोटियां हार्ड हो गई थीं। इस पर सीएम नाराज हो गए।

खाद्य निरीक्षक निलंबित
सीएम के नाराजगी के बाद खाद्य निरीक्षक मनीष स्वामी को निलंबित कर दिया गया है। मनीष स्वामी इंदौर में 10 साल से जमे हुए थे। कलेक्टर मनीष सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि प्रोटोकॉल के तहत जिस गुणवत्ता वाला खाना होना चाहिए था, उसमें चूक हुई है। इसलिए मनीष स्वामी पर कार्रवाई की गई है।