‘चिराग’ पर बिहार विधानसभा चुनाव के बाद होगा फैसला: अमित शाह 

0
5

पटना, बिहार विधानसभा चुनाव 2020 से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान के साथ कई दौर की बातचीत हुई। लेकिन, उन्होंने एनडीए से अलग होने का फैसला किया। इसके साथ ही अमित शाह ने यह भी कहा कि एनडीए में एलजेपी के लौटने के बारे में जो भी फैसला होगा वो बिहार चुनाव के बाद ही होगा। एक निजी टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान अमित शाह से सवाल पूछा गया कि केंद्र में लोजपा गठबंधन में है। लेकिन रामविलास पासवान के निधन के बाद जो मंत्रिमंडल में जो सीट खाली हुई है उसे चिराग पासवान के जरिए भरा जाएगा या लोजपा का कोई और सांसद शामिल होगा। इसके जवाब में अमित शाह ने कहा कि इस पर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है। अभी बिहार चुनाव पर फोकस है। बिहार चुनाव के बाद मीटिंग करके इस पर फैसला किया जाएगा।

यह पूछने पर कि क्या चिराग पासवान बिहार चुनाव में एनडीए (NDA) के वोट काटेंगे, शाह ने कहा, “हमें एचएएम और वीआईपी के रूप में नए साथी मिले हैं। फिर, बिहार के लोग भी जानते हैं कि गठबंधन से अलग होने के लिए कौन जिम्मेदार है।” शाह ने कहा, “जब जदयू हमारे साथ आई तब हमें कुछ समझौता करने की जरूरत थी। भाजपा और एलजेपी दोनों की सीटें कम होने जा रही थीं। हालांकि, उन्होंने (चिराग) एक तरफा बयान देना शुरू कर दिया, जिससे भाजपा और जदयू दोनों के कार्यकर्ताओं की तरफ से प्रतिक्रिया देखने को मिली। इसके बाद भी हमने गठबंधन तोड़ने का ऐलान नहीं किया। बिहार में गठबंधन तोड़ने की औपचारिक घोषणा चिराग की तरफ से की गई।” बिहार चुनाव: चिराग पासवान पर आखिरकार बोले अमित शाह, ” LJP को ऑफर की थीं उचित सीटें” केंद्रीय गृहमंत्री ने कहा, “मैं NDA और भाजपा की तरफ से स्पष्ट करना चाहता हूं कि LJP बिहार चुनाव में NDA का हिस्सा नहीं है। बिहार चुनाव में भाजपा, जदयू, हम पार्टी और वीआईपी पार्टी ये चार दल इकट्ठा होकर नीतीश कुमार के नेतृत्व में लड़ रहे हैं और मोदी जी NDA का नेतृत्व कर रहे हैं।”