BJP की सूची का इंतजार, कांग्रेस के तीन और प्रत्याशी घोषित

0
2

मुरैना से राकेश मावई, मेहगांव से हेमंत कटारे और मलहरा से सुश्री रामसिया भारती मैदान मे

भोपाल
मध्य प्रदेश में होने जा रहे उपचुनाव को लेकर भाजपा ने चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों को लेकर अभी तक अधिकृत रूप से अपने पत्ते नहीं खोले हैं। जबकि 3 दिन बाद ही नामांकन दाखिले का सिलसिला शुरू हो जाएगा। इससे संभावित प्रत्याशियों की धड़कनें लगातार तेज होती जा रही है, वह कई तरह की शंकाओं से घिरते जा रहे हैं। जबकि माना यह जा रहा था कि कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए सभी 25 पूर्व विधायकों को भाजपा अपना प्रत्याशी बनाएगी किंतु दिल्ली में हुई पार्टी के केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक के बाद भी इस पर कोई मुहर नहीं लग पाया।

जबकि विधायकों के निधन के बाद रिक्त हुए 3 सीट पर प्रत्याशी चयन को लेकर पार्टी नेताओं के बीच जमकर रस्साकशी चल रही है। इस बीच पता चला है कि पार्टी केवल चुनाव जीतने की संभावना वाले पूर्व विधायकों को ही अंदरूनी मैदानी सर्वे रिपोर्ट के आधार पर टिकट देगी ।ऐसी दशा में सिंधिया के साथ दलबदल करने वाले 22 विधायकों मैं से कुछ के प्रत्याशी बनने पर संशय के बादल घिरने लगा है। पार्टी नेताओं द्वारा लगातार किए जा रहे घोषणा के बावजूद यदि ऐसा कोई बदलाव होता है ,तो इसके लिए ज्योतिरादित्य सिंधिया के सहमति के बाद ही उनके पसंद के ही अन्य पार्टी नेता को टिकट दिए जाने की संभावना बन सकती है।

बाद में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए तीन अन्य पूर्व विधायकों को लेकर पार्टी नेताओं ने उन्हें पुनः प्रत्याशी बनाए जाने का कोई अधिकृत वायदा नहीं किया है। ऐसी दशा में बड़े बदलाव के बाद स्वयं को उपेक्षित समझ रहे पार्टी नेताओं को खुश करने के लिए उन्हें प्रत्याशी बनाकर उपकृत किया जा सकता है। इसी तरह की संभावनाओं से भरे पार्टी के अंदर खाने में चल रही खींचतान के कारण ही अभी तक पार्टी प्रत्याशियों की अधिकृत सूची जारी नहीं हो पाई है। वहीं दूसरी ओर भाजपा के मुख्य प्रतिद्वंदी दल कांग्रेस अपने 27 प्रत्याशिओ की सूची जारी कर चुकी है। तीसरी राजनीतिक ताकत के रूप में मध्यप्रदेश में उपचुनाव के जरिए स्वयं को स्थापित करने मे जुटी बसपा ने भी अपने 18 प्रत्याशी घोषित कर दिया है।

सिर्फ ब्यावरा से घोषणा बाकी
 कांग्रेस ने 3 प्रत्याशियों की अपनी तीसरी सूची मंगलवार को जारी कर दी है जिसमें मुरैना से राकेश मावई , मेहगांव से हेमंत कटारे और छतरपुर जिले के मलहरा  से सुश्री रामसिया भारती को चुनाव मैदान में उतारा गया है। अब कांग्रेस से एकमात्र सीट राजगढ़ जिले के ब्यावरा में प्रत्याशी घोषित करना शेष है। जहां पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पसंद के आधार पर प्रत्याशी तय किया जाना सुनिश्चित है। ऐसी दशा में उनके द्वारा दिए जाने वाले नाम का इंतजार किया जा रहा है।आज की सूची में बदनावर से अभिषेक सिंह के स्थान पर कमल सिंह पटेल को प्रत्याशी बनाया गया है। मुरैना से किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर को भी प्रबल दावेदार माना जा रहा था किंतु सर्वे रिपोर्ट को आधार बनाकर कांग्रे स  के पुराने नेता और सिंधिया के प्रबल समर्थक रहे राकेश मावई को अवसर दिया गया है। इसी तरह मेहगांव में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में घर वापसी करने वाले चौधरी राकेश सिंह चतुर्वेदी का मैदानी सर्वे रिपोर्ट जीत के योग्य पाए जाने के बावजूद दिग्विजय सिंह सहित कांग्रेस के कुछ अन्य वरिष्ठ नेताओं के विरोध के बाद कमलनाथ ने अपनी पसंद के उम्मीदवार पूर्व विधायक हेमंत कटारे को मैदान में उतारा है