बड़ामलहरा से कांग्रेस प्रत्याशी रामसिया के खिलाफ कांग्रेसियों में गुस्सा

0
6

kamlesh pandey

छतरपुर, बड़ामलहरा उपचुनाव के मैदान में कांगे्रस ने अपने अधिकृत प्रत्याशी के रूप में मूलत: टीकमगढ़ जिले के अतरार गांव की निवासी और बड़ामलहरा क्षेत्र के बमनीघाट में अस्थायी रूप से निवास कर रहीं साध्वी रामसिया भारती को उतारा है। मंगलवार की शाम जैसे ही रामसिया भारती के नाम का ऐलान हुआ बड़ामलहरा क्षेत्र में कांग्रेस के भीतर बगावत सुलग उठी। कांगे्रस नेता आनंद सिंह ने पार्टी छोडऩे का ऐलान किया और खुद चुनाव मैदान में उतरने की बात कही तो वहीं स्थानीय प्रत्याशी के रूप में टिकिट की दावेदारी कर रहीं मंजूला डेवडि?ा भी काफी दुखी नजर आयीं। ब्लाक अध्यक्ष से लेकर तमाम कार्यकर्ता पार्टी के इस फैसले से खफा बताए जा रहे हैं। बड़ामलहरा कांग्रेस के नाम से चलने वाले कुछ वाट्सएप गु्रप में कार्यकतार्ओं ने कमलनाथ के फैसले की जमकर आलोचना की। वहीं भाजपा से प्रदुम्र सिंह की प्रत्याशी के रूप में घोषणा हुई है।

कौन हैं रामसिया भारती?
साध्वी रामसिया भारती मूलत: टीकमगढ़ जिले के पलेरा विकासखण्ड के ग्राम अतरार की निवासी हैं। बचपन से ही वैराग्य धारण कर वे प्रवचन कर रही हैं। इनके पिता पर हत्या का एक मुकदमा भी दर्ज रह चुका है। कुछ वर्षों पहले रामसिया भारती के बड़ामलहरा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बमनीघाट में रहने वाले एक रिश्तेदार ने उन्हें गोद ले लिया था इसलिए वे अपना अस्थायी निवास बमनीघाट को भी बताती हैं। रामसिया भारती वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव के दौरान भी प्रत्याशी की दौड़ में थीं हालांकि तब उन्हें टिकिट नहीं मिली थी। वे उमा भारती की शैली की नेता होने के बावजूद उनकी धुर विरोधी हैं और अपने बयानों में उमा भारती पर लोधी वोट बैंक का इस्तेमाल करने के आरोप भी लगाती हैं।

बागी आनंद सिंह बोले कांग्रेस ने धोखा किया
रामसिया भारती के टिकिट का ऐलान होते ही बड़ामलहरा के दबंग नेता आनंद सिंह ने सबसे पहले विद्रोह का बिगुल फूंक दिया। बसपा में रहने के बाद पिछले चुनाव में ही वे कांग्रेस से जुड़े थे और तब प्रद्युम्र सिंह के लिए की गई उनकी मेहनत का नतीजा भी प्रद्युम्र की चुनावी जीत में नजर आया था। इस बार वे कांगे्रस से टिकिट मांग रहे थे और दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में जनसंपर्क भी कर रहे थे। फोन पर हुई बातचीत में आनंद सिंह ने कहा कि पार्टी के स्थानीय नेताओं के साथ-साथ बड़े नेताओं ने मिलकर बड़ामलहरा क्षेत्र की जनता और कांग्रेस कार्यकतार्ओं के साथ धोखा किया है। रामसिया भारती बाहरी हैं जब लोधी समाज ने भाजपा टिकिट दे रही है तो उन्हें टिकिट देकर यह आत्मघाती कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा कि वे कांग्रेस छोड़ रहे हैं और हर कीमत पर चुनावी अखाड़े में उतरेंगे।