राम मंदिर आंदोलन को जन आंदोलन बनाने में आडवाणी की थी एहम भूमिका – फग्गन सिंह कुलस्ते

0
43
advanis-role-was-important-in-making-ram-temple-movement-a-mass-movement-faggan-singh-kulaste

कृषि सुधार विधेयक मोदी सरकार का ऐतिहासिक कदम – फग्गन सिंह कुलस्ते

राम मंदिर आंदोलन को जन आंदोलन बनाने में आडवाणी की थी एहम भूमिका – फग्गन सिंह कुलस्ते

केंद्रीय राज्य मंत्री ने कांग्रेस पर लगाया किसानो को गुमराह करने का आरोप

बाबरी मस्जिद विध्वंस पर सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले पर जताई ख़ुशी

advanis-role-was-important-in-making-ram-temple-movement-a-mass-movement-faggan-singh-kulaste

Syed Javed Ali
मण्डला – देश मे कृषि सुधार अध्यादेश लागू होने पर किसानों की भागीदारी बढ़ेगी और किसानों को अपनी उपज का वाजिव हक मिलेगा। अपनी उपज को मनचाही जगह में बेंचने की स्वतंत्रता होगी। कृषि उपज मंडी का कार्य सुचारू रूप से चलता रहेगा। न्यूनतम सर्मथन मूल्य की व्यवस्था पूर्व की तरह जारी रहेगी। किसानों को सशक्त करने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में कृषि सुधार विधेयक का ऐतिहासिक क्रांतिकारी कदम देश के अन्नदाता किसानो के संपूर्ण हितों को ध्यान में रखते हुए लिया गया निर्णय है। यह बात पत्रकार वार्ता मे केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गनसिंह कुलस्ते ने व्यक्त किये। इस अवसर पर राज्य सभा सांसद श्रीमति संपतिया उइके, भाजपा जिलाध्यक्ष भीष्म द्धिवेदी जिला मीडिया प्रभारी श्री सुधीर कसार उपस्थित रहे।

वार्ता में श्री कुलस्ते ने कहा कांग्रेस ने देश की आजादी के बाद किसानों को और आम जनता को गुमराह करते हुए सत्ता में बने रहने का काम किया है। पूर्व में मध्यप्रदेश के किसानों को ऋणमाफी के नाम पर गुमराह करना सबसे बड़ा उदाहरण है। कृषि सुधार विधेयक का विरोध कर कांग्रेस फिर किसानों को गुमराह करने की कोशिश कर रही है क्योंकि कृषि सुधार विधेयक लागू होने से कांगेस के बड़े-बड़़े दलालों की दलाली समाप्त हो जायेगी। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कांग्रेस को यदि विरोध करना था तो संसद के अंदर किसानों के हित में चल रही चर्चा में भाग लेकर किसान हित में सार्थक सुझाव देना था लेकिन कांग्रेस ने हमेशा देश के हित में लिये गये प्रत्येक निर्णय का विरोध करने की आदत बना ली है। केन्द्र की मोदी सरकार ने 92 हजार करोड़ की राशि किसानों के खाते में सीधे भेजा है आत्मनिर्भर पैकेज के तहत कृषि क्षेत्र के लिए 1 लाख करोड़ की घोषणा की गयी है प्रतिवर्ष 6 हजार रूपये किसान सम्मान निधि देने की योजना को प्रदेश के भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आगे बढ़ाते हुए किसान सम्मान निधि 4 हजार रूपये और देने की योजना प्रारंभ की है केन्द्र सरकार द्वारा 60 वर्ष की उम्र पार कर चुके किसानों को किसान मान-धन के तहत 3 हजार रूपये प्रतिमाह पेंशन देने का प्रावधान किया है इस बात से प्रमाणित होता है कि भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकार किसानों के हित में निर्णय लेकर उनकी आय को दोगुना करना और आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश में लगी है यही वजह है कि मध्यप्रदेश को 5 बार कृषि कर्मण अवार्ड भी मिल चुका है केन्द्र सरकार के इस निर्णय से किसान अपनी मर्जी का मालिक होगा देश में प्रतिस्पर्धी डिजिटल व्यापार का माध्यम का लाभ लेकर पूरी पारदर्शिता से किसानों का काम होगा मंडी में जाकर लाईसेंसी व्यापारियों को ही अपनी उपज बेंचने की विवशता नहीं होगी और बिचौलियों के चुंगल से मुक्त रहेगे।

बाबरी मस्जिद विध्वंस पर सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले पर बोले कुलस्ते –
बुधवार की सुबह बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले पर फैसला सुनाते हुए सीबीआई की विशेष अदालत ने सभी आरोपियों को बरी कर दिया। इस मामले को लेकर भाजपा के कई बड़े नेता आरोपी थे। अदालत के इस फैसले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के पहले सर्किट हाउस में मीडिया से बात करते हुए केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। कुलस्ते ने कहा कि बहुत पुराने समय से जन भावना की दृष्टि से इस विषय को लेकर आंदोलन शुरू हुआ था। 6 दिसंबर 1992 को जो घटना घटी, यह मामला अभी तक कोर्ट में विचाराधीन था। आज उसका फैसला हुआ है और कोर्ट ने सभी लोग इसमें शामिल थे उन सब को बरी किया है। मुझे लगता है कि कोर्ट ने जो भी फैसला किया है हम सब उसका आदर करते हैं, सम्मान करते हैं और इसलिए कभी भी कोई निर्णय होता है, हम उसका सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि लाल कृष्णा आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कल्याण सिंह, उमा भारती, ऋतंभरा, विनय कटियार, जय भान सिंह पवैया सभी को व्यक्तिगत रूप से जानता हूँ। इस आंदोलन को पूरी तरीके से जन आंदोलन बनाने में लाल कृष्ण आडवाणी की एहम भूमिका थी। उन्होंने कई आंदोलन और यात्राएं की। इसे लेकर जनता का आंदोलन बनाना गया आडवाणी की विशेषता थी। इस पूरे विषय को लेकर देशभर में उन्होंने आंदोलन खड़ा किया था। वह पार्टी के वरिष्ठ नेता है। हम उनका बड़ा आदर करते हैं। जनता की नब्ज को समझना, जन भावना को समझना यह उनमे उनमें एक बड़ी कला थी।