100 साल में एक बार आती है महामारी, जिसने पूरी दुनिया में तबाही

0
122
A pandemic comes once in 100 years, which devastated the whole world

जानिए कब.कब आई महामारी और गईं कितनी जानें

नई दिल्ली। सन 1720, फिर 1820, 1920 और अब 2020, अब ये इत्तेफाक है या कुछ और पता नहीं, पर पिछले चार सौ सालों में हर सौ साल बाद एक ऐसी महामारी जरूर आई है, जिसने पूरी दुनिया में तबाही मचाई। हर सौवें साल आने वाली महगामारी ने दुनिया के किसी कोने को नहीं छोड़ा। करोड़ों जान लेने के साथ कई इंसानी बस्तियों के तो नामो-निशान तक मिटा दिए। 1720 में दुनिया में द ग्रेट प्लेग आफ मार्सेल फैला था, जिसमें 1 लाख लोगों की मौत हो गई थी। 100 साल बाद सन 1820 में एशियाई देशों में हैजा फैला। उसमें भी एक लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। 1918-1920 में दुनिया ने झेला स्पेनिश फ्लू का कहर। इसने करीब 5 करोड़ लोगों को मौत की नींद सुला दिया था और अब दुनिया पर कोरोना की तबाही है, जिससे दुनिया में तबाही है।

A pandemic comes once in 100 years, which devastated the whole worldसन 1720: पूरी दुनिया में प्लेग फैला था। मार्सिले फ्रांस का एक शहर है, जहां इससे 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। कुछ महीनों में 50 हजार लोग मारे गए। बाकी को 50 हजार लोग अगले दो सालों में मर गए।

सन 1820 : एशियाई देशों में कॉलरा यानी हैजा ने महामारी का रूप लिया। इसने जापान, अरब देशों, भारत, बैंकॉक, मनीला, जावा, चीन और मॉरिशस जैसे देशों को जकड़ में ले लिया। इससे सिर्फ जावा में 1 लाख लोगों की मौत हुई थी, जबकि सबसे ज्यादा मौतें थाईलैंड, इंडोनेशिया और फिलीपींस में हुई थी।

सन 1920: धरती पर फिर तबाही आई। ये तबाही स्पैनिश फ्लू की शक्ल में आई थी। वैसे ये 1918 से ही था, लेकिन ज्यादा असर 1920 में दिखा। इस फ्लू की वजह से पूरी दुनिया में दो से 5 करोड़ के बीच लोग मारे गए थे।