संपूर्ण कायाकल्प अभियान का सीएम ने किया शुभारंभ

संपूर्ण कायाकल्प अभियान का सीएम ने किया शुभारंभ

भोपाल। आज भोपाल के कुशाभाऊ ठाकरे सभागार में संपूर्ण कायाकल्प अभियान का शुभारंभ एवं NQAS कायाकल्प पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया है। यहां पहुंकर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोक स्वास्थ्य मंत्री एवं गणमान्य साथियों के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान एवं NQAS कायाकल्प पुरस्कार वितरण समारोह का शुभारंभ किया।

1625 स्वास्थ्य संस्थाओं की मरम्मत के लिए 66.05 करोड़ की राशि
कुशाभाऊ ठाकरे सभागार भोपाल में #MissionSampoornaKayakalp का शुभारंभ कर मुख्यमंत्री ने सम्पूर्ण कायाकल्प अभियान के अंतर्गत प्रदेश की 1625 स्वास्थ्य संस्थाओं की मरम्मत के लिए 66.05 करोड़ रुपये की राशि सिंगल क्लिक के माध्यम से राशि अंतरित की। यहां CM ने जिला अस्पतालों के श्रेष्ठ संचालन हेतु "कायाकल्प अभियान" के तहत विदिशा जिला अस्पताल को प्रथम एवं देवास जिला अस्पताल को द्वितीय पुरस्कार प्रदान किया गया। अन्य स्वास्थ्य संस्थाओं को भी विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कृत किया गया।

एक बेड के लिए 7 चादरें स्वीकृत 
इस कार्यक्रम में सीएम शिवराज ने कहा कि, हमारे यहां कहते हैं कि 'शरीरमाद्यं खलु धर्म साधनम्' अर्थात स्वस्थ शरीर ही सभी कर्तव्यों को पूरा करने का एकमात्र साधन है। डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ सभी हमारे लिए भगवान का रूप हैं। सीएम बोले- एक जमाना था, जब सरकारी अस्पतालों के नाम पर गंदगी के अंबार का चित्र समक्ष आ जाता था, लेकिन अब व्यवस्थाएं बदल गई हैं, सफाई की व्यवस्था एवं फर्नीचर आदि बदलने के साथ-साथ एक बेड के लिए 7 चादरें स्वीकृत कर दी गई हैं। अभी तक जो सामान खरीदने की व्यवस्था थी वह रेट कॉन्ट्रैक्ट के आधार पर थी। इस बार रेट कॉन्ट्रैक्ट के स्थान पर इसे टेंडर किया और 214 करोड़ रुपए की सामग्री लगभग 166 करोड रुपए में ही आ गई। आपने 47 करोड़ 78 लाख रुपए बचाए हैं।

एक व्यक्ति ठान ले, तो व्यवस्थाएं बदल सकती हैं
मुख्यमंत्री बोले- आज मैंने प्रदेश के विभिन्न चिकित्सालयों के प्रभारियों को सम्मानित किया। इससे यह सिद्ध होता है कि जहां चाह होती है, वहां राह को निकलना ही पड़ता है। यदि एक व्यक्ति ठान ले, तो व्यवस्थाएं बदल सकती हैं। सभी अस्पतालों में जरूरी है हेल्प डेस्क। अगर आपने प्रेम से बोल लिया और गाइड कर दिया तो वह आपको भी दुआएं देंगे और सरकार को भी दुआएं देंगे।