9वीं से 12वीं छात्रों का इस वर्ष आतंरिक मूल्यांकन होगा, परीक्षा नहीं

0
3

भोपाल
  सीबीएसई की तर्ज पर मध्य प्रदेश बोर्ड के 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों का आंतरिक मूल्यांकन होगा। कोरोना काल में स्कूल नहीं खुल रहे हैं। इस कारण विद्यार्थियों का मूल्यांकन नहीं हो पा रहा है। इसके लिए माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ऑनलाइन आंतरिक मूल्यांकन करेगा। इस संबंध में मंडल के अध्यक्ष ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्ययोजना के संबंध में जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। माशिमं 1 सितंबर से ऑनलाइन शिक्षण सत्र की शुरुआत करने जा रहा है।

तिमाही व छमाही परीक्षाएं रद्द
मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग ने कोरोना के चलते पहले ही घोषणा कर दी थी कि वर्तमान सत्र में तिमाही व छमाही परीक्षाएं नहीं हो सकती। इसलिये प्रदेश में इस बार दोनों परीक्षाएं रद्द रहेंगी और छात्रों का केवल आंतरिक मूल्यांकन होगा।

1 सितंबर से ऑनलाइन शिक्षण सत्र
मध्य प्रदेश शिक्षा मंडल के अध्यक्ष राधेश्याम जुलानिया ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी जिलों के अधिकारियों को इसके निर्देश भी दे दिये हैं। एमपी बोर्ड ने 1 सितंबर से ऑनलाइन शिक्षण सत्र की शुरुआत करने के निर्देश दिये हैं। नयी व्यवस्था के तहत इन कक्षाओं का कोर्स 12 यूनिट में बांटा गया है और एक यूनिट को 15 दिन में खत्म करना होगा। हर यूनिट का ऑनलाइन मूल्यांकन किया जाएगा। बोर्ड ने यह भी तय किया है कि छह माह में सभी यूनिट की पढ़ाई पूरी हो जाए।

इस तरह होगी परीक्षा
बोर्ड ने पेपर का मसौदा भी तय कर दिया है। हर पेपर 100 अंक का होगा, जिसे कई हिस्सों में बांटा गया है। पहले 30 अंक के विकल्प के प्रश्न, फिर10 प्रश्न 3 अंक के होंगे, फिर 10 प्रश्न 4 अंक के होंगे। जिन स्कूल में छात्र अध्ययनरत है उनको भी 70 अंक का आंतरिक मूल्यांकन करना होगा फिर बोर्ड में भेजने होंगे। बोर्ड 30 अंक के लिए परीक्षा आयोजित करेगा। इन सबको मिलाकर परीक्षा परिणाम घोषित किया जाएगा।

ऑनलाइन होंगे पेपर
बोर्ड के अनुसार प्रदेश के छात्रों के लिये यह परीक्षा ओपन बुक होगी। जिसे घर या किसी भी स्थान से दिया जा सकेगा। बोर्ड छात्रों के मोबाइल पर पेपर भेजेगा, उसके बाद छात्र हल करके अपने स्कूल में कॉपी जमा करेंगे। स्कूल में ही बच्चों की कॉपी जांची जाएंगी और केवल अंक बोर्ड को भेजे जाएंगे।