नौकरी लगाने के नाम पर 10 लोगों से ठगे 31.5 लाख

0
7

रायपुर। ठगी के धंधे में क्या नहीं होता, ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें आरेपी ने भाजपा नेताओं के साथ अपनी फोटो दिखाकर ऊंची पहुंच होने की बात कहकर 10 लोगों से सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर 31.5 लाख रुपये लिए और जब नौकरी नहीं लगी तो रुपये वापस मांगे जाने पर वापस करने से इंकार कर दिए। रायपुर व महासमुंद के ये सभी लोग आज एकत्र हुए और गोलबाजार थाने में आरोपी युवक के खिलाफ मामला दर्ज करवाते हुए वॉट्सऐप मैसेज के स्क्रीनशॉट सौंपे।

बताया जाता है कि  फरवरी 2016 से अप्रैल के बीच किस्तों में रितेश ठाकुर व मनीष वर्मा 2-2 लाख, जितेंद्र कुमार, विकेश साहू, अनुभव शर्मा व फूलचंद साहू से 3-3, मोहसीन कुरैशी व हेमलता वर्मा से 2.5-2.5, रामफेकर जी व अंजली रूपरेला से 4.5-4.5 और संजय यादव से 1.5 लाख रुपए रुपये रायपुर और महासमुंद के युवक-युवतियों से अलग-अलग सरकारी विभागों में नौकरी के लिए आवेदन किया था। इस दौरान उनका परिचय रायपुर के ही रहने वाले मनीष सोनी से हुआ। उन्होंने सभी को नौकरी लगवाने का झांसा दिया और बदले में सबसे अलग-अलग रकम की मांग की। मनीष ने भाजपा नेताओं के साथ अपने फोटो दिखाए और ऊंची पहुंच होने की बात कही। इसके चलते वे सभी उनकी बातों में आ गए और भर्ती परीक्षा के एडमिशन कार्ड की कॉपी मनीष को व्हॉट्सएप की। इसे देखकर उसने अलग-अलग सभी को पुराना मंत्रालय तहसील के पास बुलाया और पद के हिसाब से रुपए लिए। किस्तों में इन सभी से आरोपियों ने रुपये वसूले और जब नौकरी नहीं लगी तो रुपये वापस मांगे तो मनीष इंकार कर दिया। आज सभी युवक एकत्र हुए गोलबाजार थाने में आरोपी मनीष सोनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है।