12 घंटे तक घर में पड़ा रहा 20 वर्षीय युवक का शव, विधायक ने कराया अंतिम संस्कार

0
6

 फुलवारीशरीफ  
कोरोना काल में इंसान मर रहा है और साथ में इंसानियत भी मर चुकी है। पिछले एक सप्ताह में कई ऐसी मौत हुई और शव घर में पड़ा रहा, लेकिन किसी ने शव का अंतिम संस्कार करने की पहल नहीं की। पराये तो दूर अपनों ने भी साथ छोड़ दिया। जानीपुर के नगवां डेरा पर 20 वर्षीय युवक की मौत हो गयी। मौत के बाद घर के एक कमरे में 12 घंटे तक शव पड़ा हुआ रहा, लेकिन कोरोना से मौत की आशंका को लेकर किसी ने अंतिम संस्कार करने की पहल नहीं की। जबकि घर में भाई, पत्नी, मां व बहन व आधे गांव के सगे-संबंधी लोग थे। लेकिन किसी ने भी शव का अंतिम संस्कार करने की जहमत नहीं उठाई।

नगवा डेरा निवासी ह्दय नारायण यादव का मृतक सुधीर कुमार बेटा था। सुधीर की मौत बुधवार रात आठ बजे हुई थी। शव को सुबह आठ बजे अंतिम संस्कार लिए एंबुलेंस से भेजा गया। लेकिन शव को परिवार के किसी सदस्य ने कंधा नहीं दिया। वहीं अंतत: ग्रामीणों ने इसकी सूचना फुलवारी शरीफ विधायक गोपाल रविदास को दिया। जिसके बाद गोपाल रविदास सुबह छह बजे नगवां डेरा गांव मृतक के घर पहुंच कर पूरी स्थिति की जानकारी ली।