हिमाचल प्रदेश को ‘ड्रग्स का गढ़ कहने पर उर्मिला मातोंडकर को लीगल नोटिस

0
2

धर्मशाला
 देवभूमि और वीरभूमि हिमाचल प्रदेश को ‘ड्रग्स का गढ़’ (Fort of Drugs) कहने पर राज्य में बॉलीवुड अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) का विरोध हो रहा है. अब हिमाचल (Himachal Pradesh) की छवि धूमिल करने पर धर्मशाला (Dharamshala) के अधिवक्ता विश्व चक्षु ने उर्मिला के खिलाफ कानूनी (Law) कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी है. इसके तहत उन्होंने अभिनेत्री को लिगल नोटिस भेज दिया है, जिसमें लिखा है कि हिमाचल की छवि धूमिल करने पर वे दीवानी व फ़ौजदारी मानहानि का दावा ठोकेंगे.

क्या बोले वकील
धर्मशाला के अधिवक्ता विश्व चक्षु का कहना है कि देवभूमि हिमाचल प्रदेश मात्र देवभूमि ही नहीं, देश व विश्व भर में वीरभूमि के नाम से भी जानी जाती है. प्रदेश के वीरों ने हमेशा देश की सुरक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है. वहीं, देश व हिमाचल की बेटी कंगना रनोत ने सुशांत मर्डर, बॉलीवुड में ड्रग्स को लेकर खुलासे किए तो महाराष्ट्र सरकार ने अंसवैधानिक कार्रवाई की, जिसका पूरे देश में विरोध हो रहा है, जबकि हिमाचल की बेटी कंगना को सभी लोग खुले दिल से समर्थन कर रहें हैं. ऐसे में बॉलीवुड में महाराष्ट्र सरकार की कठपुतली इस तरह की ओछी हरक़तें कर रही है.

पहले भी कर चुके हैं केस
विश्व चक्षु ने कहा कि हिमालय के मुकुट वाला हिमाचल पूरे देश का सिरमौर है. ऐसे में देश व प्रदेश के लिए ऐसी बयानबाजी कतई बर्दास्त नहीं की जाएगी. गौरतलब है कि एडवोकेट विश्व चक्षु ने कोरोना फैलाने को लेकर चीन के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय कोर्ट ऑफ जस्टिस नीदरलैंड में भी मामला दर्ज करने के लिए प्रपत्र दायर किया है. साथ ही भारतीय सेना को लेकर दिए गए विवादित बयान पर कन्हैया कुमार के खिलाफ धर्मशाला न्यायालय में मामला चल रहा है, जिसके अधिवक्ता भी विश्व चक्षु ही हैं.