शिवराज ने नोट से सरकार बना ली, लेकिन बड़ा सौदा छिपता नही -कमलनाथ

0
3

हाटपिपल्या
 मध्य प्रदेश में उप चुनाव की सरगर्मियाें से गरमाये सियासी पारे को पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ ने शनिवार को और गरमा दिया। कमलनाथ ने हाटपिपल्या में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर सीधा हमला बोला। उन्होंने कहा कि 'ये आम चुनाव नहीं हैं, ये उप चुनाव भी नहीं हैं। …इन उप चुनाव में हम घसीटे गये हैं।' यही नहीं कमलनाथ ने यहां तक कहा कि, छोटा सौदा तो छिप जाता है लेकिन बड़ा सौदा छिपता नहीं है। आप समझ जाइये कैसे सौदा किया। और शिवराज जी अब आकर मेरे से 15 महीनों को हिसाब मांगते हैं।'

बिकाऊ राजनीति और बड़ा सौदा
कमलनाथ ने अपने भाषण में बिकाऊ राजनीति और बड़े सौदे के नाम पर भी बीजेपी सरकार पर जमकर कटाक्ष किये। उन्होंने कहा कि, संविधान में ऐसा प्रावधान नहीं था। प्रावधान था कि कोई सांसद विधायक गुजर जाये तो उपचुनाव होता है। संविधान बनाने वालों ने ऐसा नहीं सोचा था कि इस देश में इस तरह की बिकाऊ राजनीति भी होगी। लेकिन इन उप चुनाव में हम घसीटे गये। छोटो सौदा तो छिप जाता है बड़ा सौदा छिपता नहीं है। आप समझ जाइये कैसे सौदा किया।

'मैं देता हूं हिसाब, आप 15 साल का हिसाब दीजिये'
उन्होंने कहा, 'शिवराज जी अब आकर मेरे से 15 महीनों को हिसाब मांगते हैं। मैं हिसाब देने को तैयार हूं। 15 महीने थे मेरे पास? ढाई महीने लोकसभा चुनाव और आचार संहिता में गये। एक महीना इनकी सौदे बाजी में गया। मेरे पास तो साढे़ ग्यारह महीने थे। आइये मैं आपको हिसाब देता हूं, आप 15 साल का हिसाब किताब दीजिये। आप 15 साल की बात नहीं करते मेरे से हिसाब मांगते हैं।