रिया ने SC में दी याचिका, मुंबई में हो केस की जांच

0
4

 
नई दिल्ली 

सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को इस दुनिया को अलविदा कह गए. सुशांत ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी थी. सुशांत का ऐसे अचानक चले जाना सभी को रुला गया. सुशांत के सुसाइड मामले में मुंबई पुलिस जांच-पड़ताल कर रही थी. उन्होंने अबतक 40 से ज्यादा लोगों के बयान दर्ज किए हैं. अब सुशांत के पापा केके सिंह ने मंगलावर को एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई. केके सिंह ने रिया चक्रवर्ती पर कई आरोप लगाए हैं.अब बिहार पुलिस इस मामले की जांच में लगी है.

रिया चक्रवर्ती ने सुप्रीम कोर्ट में दर्ज कराई याचिका
रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मनशिंदे ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दर्ज कराई है. इसमें कहा गया है कि सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच को मुंबई ट्रांसफर कराया जाए क्योंकि मुंबई में ही उनके केस की जांच पेंडिंग है.

मुंबई पुलिस की मदद से सबूत जुटाए जा रहे- बिहार इंस्पेक्टर
आजतक से बातचीत में बिहार पुलिस के इंस्पेक्टर मनोरंजन भारती ने कहा- हम यहां हैं और मुंबई पुलिस की मदद से सबूत जुटाए जाएंगे और फिर आगे बढ़ेंगे. मुंबई पुलिस हमारी मदद कर रही है. सुशांत के पिता के सारे आरोपों की जांच की जाएगी. अभी हम सबूत जुटा रहे हैं. सबकुछ कानूनी प्रक्रिया के तहत होगा.

वहीं इंस्पेक्टर कैसर आलम ने कहा- हमने मुंबई पुलिस से बात की है और वो हमारी मदद कर रही है. हम निष्पक्ष जांच कर रहे हैं. जांच में जो जरूरी होगा वो करेंगे. बहुत सी बातें हम नहीं बता पाएंगे.
 
मुंबई पुलिस के सूत्रों के अनुसार, सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के सदस्यों से बार-बार संपर्क किया जा रहा था ताकि वे आए और अपना पूरा बयान दर्ज करा सकें. सुशांत की बहन मीतू सिंह ने कहा था कि वो बारिश के कारण आने में असमर्थ हैं. उन्होंने कहा था कि वो लोनावाला फार्म हाउस में फंस गई थी, जिसे सुशांत ने किराए पर लिया था. कुछ दिनों के बाद मीतू ने कहा कि वो गुरुग्राम में थी, उनके परिवार के सदस्य के अस्वस्थ होने के कारण वो नहीं आ सकती.

पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, पुराने बयान में सुशांत के परिवार ने किसी पर भी कोई आरोप नहीं लगाए थे. पुलिस ने सुशांत का फाइनेंशियल स्टेटस चेक किया था और सुशांत के बैंक खाते में लगभग 2.5 करोड़ रुपये थे. लॉकडाउन के बाद सुशांत एक प्रोजेक्ट साइन करने वाले थे, जिसके लिए उन्हें लगभग 15 करोड़ रुपये का भुगतान किया जाना था.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने सुशांत मामले पर कहा है- आरजेडी पहली पार्टी है जो लगातार इस मामले में CBI जांच की मांग करती रही है. अब मामला पटना पुलिस में आया है तो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को उद्धव ठाकरे से बात कर इस मामले को CBI को सौंप देना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सुशांत के परिवार से मिलना चाहिए.

FIR दर्ज करने को तैयार नहीं थी पटना पुलि‍स
सुशांत के परिवार के कानूनी सलाहकार विकास सिंह ने कहा- रिया को गिरफ्तार किया जाना चाहिए. सच्चाई के लिए उसकी हिरासत में पूछताछ आवश्यक है. पटना पुलिस एफआईआर दर्ज करने को तैयार नहीं थी. जब परिवार ने एफआईआर दर्ज करानी चाही, तो बिहार पुलिस ने कहा था कि इसमें हाई प्रोफाइल लोग शामिल हैं. सीएम नीतीश कुमार और मंत्री संजय झा ने पुलिस को समझाया और फिर एफआईआर दर्ज की गई.

चिराग पासवान की उद्धव ठाकरे से बातचीत
खबर है कि सुशांत मामले को लेकर एलजेपी नेता चिराग पासवान ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से बातचीत की है. चिराग ने ट्वीट कर कहा- सीएम जी से स्वर्गीय सुशांत सिंह राजपूत के जांच के विषय पर बात की. मुख्यमंत्री जी ने बताया की जांच में जितने भी नामों की चर्चा हो रही है मुंबई पुलिस सबको बुला कर पूछताछ कर रही है दोषी पाए जाने पर किसी को भी नहीं छोड़ा जाएगा.