रास में सरोज ने महामारी (संशोधन) विधेयक-2020 के समर्थन में पीएम को दिया साधुवाद

0
2

रायपुर
छत्तीसगढ़ से राज्यसभा सदस्य सरोज पांडेय ने राज्यसभा में महामारी (संशोधन) विधेयक-2020 के समर्थन में कहा कि आज पूरा देश कोरोना वायरस रूपी महामारी से जूझ रहा है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार द्वारा इस महामारी से लड?े के लिए जो कदम उठाये हैं, उसके लिए में उन्हें साधुवाद देती हूँ।

सरोज पांडेय ने कहा कि वर्तमान में इस विधेयक में कोरोना वारियर्स की सुरक्षा के लिए और इस संक्रमण काल में स्वास्थ्य सेवाओं और सुविधाओं को क्षति से बचाने के लिए जो प्रावधान किये गये है उनमें महामारी से लड?े में जुटे हमारे कोरोना वारियर्स पर हमला करने और उनके कार्य में बाधा पहुंचने पर 3 माह से लेकर 5 साल तक की सजा हो सकती है, और 50 हजार से लेकर 2 लाख तक का जुमार्ना भी लगाया जा सकता है। स्वास्थ्यकर्मी के खिलाफ हिंसा से यदि गंभीर क्षति पहुँचती है तो यह सजा 6 महिने से लेकर 7 वर्ष तक बढ़ाई जा सकती है तथा जुमार्ना 1 लाख से 5 लाख तक हो सकता है।

इस बिल में इन अपराधों को संज्ञेय तथा गैर जमानती बनाया गया है ताकि अपराधिक तत्वों में कानून का भय व्याप्त रहे और हमारे इन स्वास्थ्यकर्मियों पर कोई भी हमला या दुर्व्यवहार करने का साहस न कर सके। साथ ही, असामाजिक तत्वों द्वारा स्वास्थ्य सेवाओं के संस्थानों को नुकसान पहुंचाने पर दोषी व्यक्तियों से मुआवजा वसूलने का भी प्रावधान रखा गया है। यह प्रावधान उन तत्वों को हतोत्साहित करेगा जो शासकीय संपत्ति का नुकसान करना अपना हक समझते थे और विभिन्न शासकीय और स्वास्थ्य संस्थानों को करोड़ों अरबों रुपये का नुकसान पहुंचाते थे, तथा कानून के न होने से बच जाते थे। अब इस कानून की मदद से ऐसे लोगों को अपने किये गुनाह का जुमार्ना भरना पड़ेगा।