राजस्थान में एक अक्टूबर से फिर हो सकती बारिश

0
5

जयपुर
प्रदेश में भले ही मानसून की रफ्तार थम गई हो, लेकिन जानकार अभी भी प्रदेश में बारिश की संभावनाओं से इनकार नहीं रहे हैं। बताया जा रहा है कि दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून की वापसी का समय करीब है। लिहाजा राजस्थान में बारिश की उम्मीदें पूरी तरह से दिखाई दे रही है। निजी मौसम एजेंसी 'स्काईमेट वेदर' ने पूर्वानुमान जताया कि पश्चिमी राजस्थान से एक अक्तूबर से मॉनसून की वापसी हो सकती है. इसके मुताबिक, उत्तर भारत के बड़े हिस्से से सात अक्टूबर तक मॉनसून की वापसी की पूरी संभावनाएं हैं। आपको बता दें कि भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में कहा कि राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली में बारिश की संभावनाएं जताई थी।

राजस्थान में कैसे बन रही है बारिश की संभावनाएं
मौसम विज्ञान के जानकारों की मानें, तो देशभर में दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून की राजस्थान से होते हुए ही होगी। लिहाजा यहां वेदर कंडीशन पूरी तरह बारिश के लिए फेबरेबल है। वहीं दूसरी ओर यह भी कहा जा रहा है कि दक्षिण-पश्चिमी मानसून एक बार फिर सक्रिय हो सकता है, लिहाजा एक अक्टूबर से राजस्थान हरियाणा के अलावा उत्तर भारत के बड़े हिस्से से सात अक्टूबर तक मॉनसून वापसी कर सकता है।

अगस्त- सितंबर में बरसा मानसून
प्रदेश में हालांकि सावन में बारिश की रफ्तार धीमी रही। लेकिन अगस्त माह य़ानी भादों में बदरा लगातार प्रदेश को भिगोते रहे। लिहाजा पूरे अगस्त के अलावा सिंतबर माह में भी पहले पखवाड़े में अच्छी बारिश दर्ज की गई। आपको बता दें कि एक जून से लेकर दस सितम्बर तक ही पूरे राजस्थान में 13 प्रतिशत अधिक बारिश हो चुकी है। वहीं अब दोबारा मानसून के लौटने की संभावनाए जताई जा रही है।