मोती महल का जर्जर हिस्सा गिरा,वाहनों को नुकसान

0
3

भोपाल
 मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में लगातार बारिश का दौर जारी है। बारिश के कारण पुराने भोपाल में एक हादसा हो गया है। मोतीमहल का एक हिस्सा गिर गया है। मोती महल का हिस्सा गिरने से कई गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गई हैं। बताया जा रहा है मोती महल के एक हिस्से की दीवार गिरने से करीब 8 गाड़ियां दबी हैं हालांकि इस दौरान किसी भी तरह की कोई जनहानि नहीं हुई है।

रात में गिरा एक हिस्सा
मामले की जानकारी देते हुए तलैया थाना प्रभारी डीपी सिंह ने बताया कि बांस बल्ली पर टिका हुआ पुरानी बिल्डिंग का एक छज्जा रात में भरभरा कर नीचे गिर गया जिसमें कोई जान माल की हानि नहीं हुई है केवल तीन गाड़ियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। बताया जा रहा है कि यहां अवैध पर्किंग की जाती थी।

मोती महल का एक हिस्सा गिरने के कारण यहां के पार्किंग में खड़ी नगर निगम कर्मचारियों की 8 कारे छतिग्रस्त हो गई हैं। देखरेख नहीं होने की वजह से मोतीमहल के पहली मंजिल पर अवैध रूप से मजदूर भी रहने लगे थे।

मोतीमहल का इतिहास?
मोतीमहल 150 साल पुराना है। इसे तत्कालीन नवाब कुदेशिया ने बनवाया था। पुरात्विक महत्व को देखते हुए राज्य पुरातत्व विभाग ने इसे अपने अधीन ले लिया था, लेकिन पुरातत्व विभाग की तरफ से इस महल की देखरेख नहीं की जा रही थी। इस महल की स्थिति खंडहर जैसी हो गई थी।