मेरठ में नौकरी का झांसा देकर धर्म परिवर्तन की साजिश का भंडाफोड़ 

0
20

 मेरठ 
उत्‍तर प्रदेश के मेरठ की मवाना थाना पुलिस ने बलरामपुर जिले के आफताब अहमद को गिरफ्तार किया है। उससे बस्ती जिले की दो लड़कियां बरामद हुई हैं। खुलासा हुआ कि आरोपी उन्हें नौकरी दिलाने के बहाने यहां लाया और उन पर धर्म परिवर्तन का दबाव बना रहा था। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि आफताब अहमद बलरामपुर जिले में गौरा थाना क्षेत्र का रहने वाला है। उसके कब्जे से दो लड़कियां मिली हैं, जिनकी उम्र 15 और 22 वर्ष है। आफताब के विरुद्ध बस्ती के रुदौली थाने पर आईपीसी की धारा 363, 366 के तहत केस दर्ज था। उसको बस्ती पुलिस के हवाले कर दिया गया है। पुलिस के अनुसार, आफताब नौकरी का झांसा देकर लड़कियों को अपने जाल में फंसता है। आफताब पिछले 3 साल से 22 वर्षीय युवती के संपर्क में था। इस युवती ने 15 वर्षीय लड़की को भी आफताब से जुड़वा दिया। वह दोनों को नौकरी दिलाने के बहाने मथुरा ले आया। इसके बाद उन्हें मेरठ के मवाना क्षेत्र में ले आया। फिलहाल वह दोनों लड़कियों पर धर्म परिवर्तन का दवाब बना रहा था। हिन्दू संगठनों ने पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद यह कार्रवाई हुई। एसपी देहात ने बताया कि आरोपी को बस्ती पुलिस ले गई है। आगे की कार्रवाई भी बस्ती पुलिस ही करेगी।

कमरे पर आती थीं लड़कियां
सूत्रों ने बताया कि आफताब पिछले कई साल से मेरठ के मवाना क्षेत्र में किराए के मकान पर रहता था। वह यहां पर आए दिन लड़कियों को लाता था। कुछ लोग कई बार उससे पूछते तो वह उन लड़कियों को अपनी रिश्तेदार बताता था।

रैकेट में हो सकते हैं कई लोग
इस तरह की भी सूचनाएं हैं कि आफताब नौकरी की तलाश में घूम रही लड़कियों से पहले दोस्ती करता था। फिर नौकरी का झांसा देता था। इसके बाद शारीरिक संबंध बनाकर उनकी वीडियो बना लेता था। इस वीडियो के सहारे वह ब्लैकमेल करके उन पर धर्म परिवर्तन का दवाब बनाता था। पुलिस का मानना है कि इस रैकेट में आफताब अकेला नहीं है, कुछ और लोग भी हो सकते हैं।