मूंगफल्ली के खेतों में मिला मृत हाथी, संसदीय सचिव ने पसीसीएफ प्रमुख से बात

0
3

महासमुंद
राज्य में हाथियों की मौत का सिलसिला जारी है। दो दिन पूर्व ही करंट लगने से एक हाथी की मौत हो गई थी और आज सुबह फिर खेतों में एक हाथी को मृत देखे जाने पर ग्रामीणों ने इसकी जानकारी वन विभाग को दी। हाथियों की मौत को गंभीरता से लेते हुए संसदीय सचिव चंद्रदेव राय ने तुरंत पी. सी. सी .एफ. चीफ राकेश चतुवेर्दी से बात की और हाथयों की मौत की रोकथाम के लिये तत्काल कदम उठाने को कहा है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को धरमजयगढ़ के मेंढरमार में करंट लगने से हाथी की मौत हुई थी। जिसमें किसान की लापरवाही सामने आने पर पिता-पुत्र सुधुसाय उरांव और धरम साय उरांव को गिरफ्तार किया गया। इस संबंध में पीसीसीएफ ने रिपोर्ट मांगी है। साथ ही लटके तारों को भी हटाने के लिए कहा गया था। अभी दो दिन बीते ही थे कि शनिवार की सुबह बिलाईगढ़ विधानसभा बया से लगे हुए गांव किशनपुर वन परीक्षेत्र पिथौरा (महासमुंद)में मूंगफल्ली के खेत में पहुंचे ग्रामीणों ने हाथी के शव को देखा। ग्रामीणों ने तत्काल वन विभाग को सूचना दी गई। सूचना पाकर डीएफओ मयंक पांडे अपनी टीम के साथ वहां पहुंचे। हाथी की मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। राज्य में पिछले चार महीनों में यह 11 वें हाथी की मौत है।

बताया जाता है कि जिला मुख्यालय से महज 8 किमी दूर हाथियों के दल को देखा गया है। पिथौरा क्षेत्र में ही शुक्रवार सुबह बेलटुकरी और साराडीह गांव में हाथी सड़क पर आ गए और ग्रामीणों और बच्चों को दौड़ा लिया था। हाथी ने एक बच्चे को सूंड़ से उठाकर फेंका, वहीं दूसरे को कुचलने का प्रयास किया। दोनों बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वन विभाग के मुताबिक, ओडिशा से चार हाथियों का दल सूखीपाली पहुंचा है। वहां से बुधवार रात पिथौरा वन क्षेत्र पहुंच गया। ग्रामीणों की सूचना मिलने पर आसपास के गांवों में हाथियों से सचेत रहने के लिए मुनादी कराई गई है। लोगों को जंगल की ओर जाने से मना किया गया है। वहीं हाथियों पर नजर रखने के लिए पेट्रोलिंग की जा रही है।

संसदीय सचिव चंद्रदेव राय ने तुरंत पी. सी. सी .एफ. चीफ राकेश चतुवेर्दी से बात कर घटना की जानकारी दी और तुरंत जांच करने हेतु निर्देशित किया। राकेश चतुवेर्दी ने कहा है कि घटना की निष्पक्ष जांच होगी और दोषियों पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।