मरवाही में बलि का बकरा बनने कोई तैयार नहीं – जकांछ

0
4

रायपुर
मरवाही उपचुनाव में कांग्रेस एवं भाजपा से प्रत्याशी बनने कोई तैयार नहीं हो रहा है। उहापोह की स्थिति को देखते हुए दोनों दलों में कोई भी बलि का बकरा बनने सामने नहीं आ रहा है। प्रत्याशी चयन में दोनों राष्ट्रीय दल असहाय सिद्ध हो रहे हैं तथा प्रत्याशी को दलीय कोष से भारी भरकम पार्टी फंड का लालच देकर चुनाव में पार्टी प्रत्याशी खड़ा कर कांग्रेस एवं भाजपा अपनी साख बचाने के प्रयास में है।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख तथा वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने कहा है कि कांग्रेस तो महिलाओं को रिझाने साड़ी-पेटीकोट, लहंगा बांटने के प्रयास में है। इन वस्तुओं से लदा ट्रक पुलिस के हाथ लग गया है तथा इस प्रलोभनार्थ हरकत से कांग्रेस की वोट हासिल करने की स्तरहीन सोच उजागर हो गई है। कांग्रेस-भाजपा द्वारा इस चुनाव में करोड़ों रूपए पानी की तरह बहाने के आसार नजर आ रहे हैं। जोगी गढ़ मरवाही में कांग्रेस एवं भाजपा अपनी जमानत बचाने की जद्दोजहद में व्यस्त है। दोनों दलों में पराजय का आभास हो चुका है। चुनावी पार्टी फंड को कोई भी प्रत्याशी बर्बाद करना नहीं चाहता है। अजीत जोगी ने क्षेत्रीय पार्टी प्रदेश की जनता के सहयोग से बनाकर मान्यता प्राप्त की थी जो स्व. जोगी के अकल्पनीय जनाधार को दशार्ता है। मरवाही में जोगी परिवार के सदस्य को पराजित कर सकना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन है।