मंदिरों से निकलने वाले पुष्प एवं नैवेद्य सामग्री से फ्लोरल कंपोस्टिग मशीन द्वारा बनाये जायेंगे उत्पाद

0
3

सागर
मंदिरों से निकलने वाले पुष्प एवं नैवेद्य सामग्री से फ्लोरल कंपोस्टिग मशीन द्वारा उत्पाद बनाने के संबंध में सागर स्मार्ट सिटी कार्यालय में स्मार्ट सिटी कार्यकारी निदेशक  आर पी अहिरवार की अध्यक्षता एवं स्मार्ट सिटी सीईओ  राहुल सिंह राजपूत एवं उपायुक्त न.पा.नि.  कमल प्रणय खरे की उपस्थिति में सागर के पुजारी संघ के साथ बैठक आयोजित की गई।

पुजारी संघ के सदस्यों द्वारा बताये अनुसार शहर के मुख्य 30-40 बड़े मंदिरों में प्रतिदिन कई श्रद्धालु दर्शनार्थ आते है और उनके द्वारा बड़ी मात्रा में फूल-माला, नारियल आदि चढ़ाये जाते है। ऐसे तमाम अन्य पदार्थो को एकत्र कर उनके पुर्नउपयोग हेतु प्रसंस्करण इकाई लगाई जायेगी। जिससे बने उत्पादों का विक्रय कर प्रसंस्करण इकाई का रखरखाव किया जायेगा। इसके साथ ही आमजन को भी जागरूक किया जायेगा कि घरों में निकलने वाली पूजा-पाठ की सामग्री नदी, तालाबों, कुओं एवं अन्य जलस्रोतों में न डाल कर मंदिरों में एकत्र करें, जिसका उपयोग नये उत्पाद बनाने में किया जा सकेगा। इसके साथ ही नागरिकों को प्लास्टिक बैग का प्रयोग न कर शहर को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 में अव्वल बनानें हेतु जागरूक किया जायेगा। इससे लाखा बंजारा झील सहित शहर के अन्य जलस्रोतों को स्वच्छ रखा जा सकेगा।  

इस दौरान कंपनी सचिव  रजत गुप्ता, सीए श्रीमति आकांक्षा जुनेजा, एई  राजबाबू सिंह, पीएमसी टीमलीडर आलोक चौबे, पुजारी संघ अध्यक्ष पं. शिवप्रसाद तिवारी, पं. भरत तिवारी, पं. रम्मू तिवारी, पं. रघू शास्त्री सहित पुजारी संघ के अन्य सदस्य उपस्थित थे।