भूमि पूजन के लिए अहिल्या नगरी की मिट्टी भी जाएगी अयोध्या

0
13

 इंदौर
अयोध्या में बनने जा रहे भव्य राम मंदिर  में मां अहिल्या की नगरी इंदौर की मिट्टी भी लगायी जाए. शहर के लोग यही चाहते हैं. यही कारण है कि मां अहिल्या की इस नगरी की मिट्टी राम मंदिर निर्माण की भूमि पूजन के लिए भेजी गई है. इसके साथ ही नर्मदा, क्षिप्रा और सिंधु नदी का पवित्र जल भी भेजा गया है. 5 अगस्त को अयोध्या में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन होने वाला है.

राजवाड़ा पर पूजन
शहर के पुजारी पं. हरीश शर्मा ने इंदौर की पवित्र मिट्टी के साथ नर्मदा, क्षिप्रा और सिंधु नदी का पवित्र जल का राजवाड़ा पर मां अहिल्‍या की प्रतिमा के सामने रखा. वहां विधि-विधान से पूजा पाठ  कराया और उसके बाद इस पावन जल और मिट्टी को अयोध्या के लिए भेज दिया गया. सांसद शंकर लालवानी ने कहा ये इंदौर की ओर से प्रभु श्रीराम के चरणों में प्रणाम है. और लोगों को भी भावनात्‍मक रूप से इस आयोजन में जुड़ना चाहिए.सांसद ने क्षिप्रा और नर्मदा के जल के साथ पवित्र सिंधु नदी का जल भी भेजा. वो कुछ साल पहले जब सिंधु दर्शन के लिए लेह-लद्दाख गए थे तो अपने साथ सिंधु का जल लेकर आए थे. वही जल राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए भेजा गया है.

मां अहिल्या ने कराया था देशभर के मंदिरों का जीर्णोद्धार
इंदौर की राजमाता मां अहिल्या ने काशी विश्वनाथ मंदिर का जीर्णोद्धार करवाया था. साथ ही केदानाथ मंदिर का भव्य मंडप भी उन्होंने बनवाया था. इसके अलावा अयोध्या समेत देशभर में कई मंदिर, घाट और धर्मशालाओं को देवी अहिल्या ने बनवाया है.इसलिए श्रीराम के दिव्य मंदिर के