भारी बारिश से इंदौर की सड़कों पर चली नाव , बालकनी में फंसे लोगों को रेस्क्यू किया

0
3

इंदौर
लंबे समय से कोरोना की मार झेल रहे इंदौरवासियों के लिए इस बार की बारिश भी कहर बनकर बरपा हुई है। शुक्रवार शाम करीब 4 बजे से शुरू हुई मुसलाधार बारिश ने अब तक शहर को पानी पानी कर दिया है। कई इलाके पूरी तरह जल मग्न हैं। खान नदी में लगातार पानी बढ़ने से किनारे मौजूद निचली बस्तियों में पानी भराना शुरू हो गया। जल भराव में फंसे लोगों को बचाने के लिए पुलिस और प्रशासन की टीम नाव लेकर सड़कों पर उतरी हुई है। बारिश के कारण सदर बाजार क्षेत्र के हालात सबसे खराब है। हालांकि, मौसम विभाग ने आगामी दिनों में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

निचले इलाकों में भरा पानी

किला मैदान रोड पर स्थित कॉलोनी सिकंदराबाद, गरीब नवाज बस्ती और भिस्ती मोहल्ले की बस्तियों में लगातार पानी बढ़ता देख रेस्क्यू कार्य किया जा रहा है। इन इलाकों से अब तक दर्जनभर से अधिक परिवारों को नाव और ट्यूब की मदद से रेस्क्यू किया गया है। वहीं, गौरी नगर क्षेत्र से 10 से ज्यादा बच्चों का रेस्क्यू किया गया। कॉलोनियों में हुए जल भराव के नुकसान से खुद को बचाए रखने के लिए लोगों को घरों की बालकनी पर चढ़ना पड़ा। पुलिस ने अपने वाहन पर सीढ़ी लगाकर लोगों को बालकनी और खिड़की से सुरक्षित बाहर निकाला। हालांकि, एक युवक के नाले में बहने की भी सूचना मिली है। साथ ही, जूना रिसाला क्षेत्र में भी नाले किनारे की बस्तियों लोगों को निकाला गया।

 

 

 

 

 

 

लगातार जारी है रेस्क्यू

एडिशनल कमिश्नर संदीप सोनी के मुताबिक, सिकंदराबाद में पानी भराव की स्थिति बन गई है। नाले के किनारे जो लोग भी फंसे हुए थे, उन्हें लगातार निकालने का प्रयास किया जा रहा है। होम गार्ड के जवान पुलिस और निगम की टीम के साथ मिलकर नाव और ट्यूब की मदद से लोगों को बाहर निकालने में जुटी हुई हैं। रेस्क्यू के बाद तीन चार स्थानों जिनमें स्कूल और धर्मशाला शामिल हैं, वहां पर प्रभावितों को पहुंचाया जा रहा है। यहां पर उनके खाने-पीने की व्यवस्था भी की गई है। नाले किनारे जहां पर भी पानी ज्यादा भर रहा है। वहां पर बचाव कार्य लगातार चल रहा है।