भारत के मोबाइल बाजार पर कब्जे की जंग अब और तेज, सैमसंग ने शियोमी को पछाड़ा 

0
6

 नई दिल्ली 
भारत के मोबाइल बाजार पर कब्जे की जंग अब और तेज हो गई है। दक्षिण कोरिया की सैमसंग ने सितंबर तिमाही में चीन की शियोमी को पछाड़कर दो साल बाद फिर से भारतीय बाजार में शीर्ष पर पहुंच गई है। काउंटर प्वाइंट की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि चीन का भारत के साथ तनाव बढ़ने और अमेरिका में चीनी कंपनियों पर प्रतिबंध की सीधा फायदा सैमसंग को मिला है। साथ ही नए उत्पादों के दम पर भी सैमसंग चीनी कंपनियों को पछाड़ने में कामयाब रही है।

 

ऑनलाइन बिक्री दोगुना बढ़ी
बाजार में सैमसंग ने ऑनलाइन बिक्री के दम पर भी शीर्ष पर पहुंचने में कामयाब रही है। सितंबर तिमाही में कंपनी की बिक्री दोगुना बढ़कर 30 फीसदी के स्तर पर पहुंच गई। पिछले साल की सितंबर तिमाही तक ऑनलाइन बिक्री में सैमसंग की हिस्सेदारी 15 फीसदी थी। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि इसके अलावा सैमसंग के एम और ए सीरीज के स्मार्टफोन ने भी खरीदारों को खूब लुभाया है।

सैमसंग की वैश्विक आय सर्वकालिक स्तर पर पहुंची
सैमसंग ने कहा कि सितंबर तिमाही में उसका लाभ 59 प्रतिशत बढ़कर दो साल के उच्च स्तर 12,350 अरब वॉन यानी 10.89 अरब डॉलर पर पहुंच गया। कंपनी का लाभ कंप्यूटर मेमोरी चिप, स्मार्टफोन और उपकरणों की बिक्री के दम पर बढ़ा है। इस दौरान कंपनी का राजस्व आठ प्रतिशत बढ़कर 66,960 अरब वॉन यानी 59 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया। यह सैमसंग का किसी भी तिमाही का सबसे अधिक राजस्व है। कंपनी ने एक बयान में कहा, 'दुनिया भर में भले ही कोविड-19 महामारी का प्रकोप जारी है, प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं के खुलने से उपभोक्ता मांग में महत्वपूर्ण तेजी आई है। कंपनी ने कहा कि कंप्यूटर चिप की मांग में कमी आयी है और स्मार्टफोन तथा उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा तेज हुई है। इसके कारण उसे चालू तिमाही में लाभ कम होने की आशंका है।