बॉडी बनाने की होड़ में किडनी बीमार

0
25

युवाओं में सलमान खान, रितिक रोशन और टाइगर श्रॉफ जैसी बॉडी पाने की होड़ बढ़ रही है और इस होड़ में आज के युवा जिम जाकर 'सिक्स पैक ऐब्स' पाने के लिए खास तरह की एक्सर्साइज करते हैं और हाई प्रोटीन डायट लेते हैं। कई बार जिम इंस्ट्रक्टर शरीर के कुछ हिस्सों में मांसपेशियों में उभार लाने के लिए हाई प्रोटीन डायट, स्टेरॉयड और हॉर्मोन के इंजेक्शन लेने की सलाह देते हैं, लेकिन इन सभी चीजों साइड इफेक्ट्स इतने ज्यादा हैं कि बहुत से युवा किडनी फेल्योर (गुर्दा काम न करना) के शिकार बन रहे हैं।

इन चीजों के हैं साइड इफेक्ट
किडनी के मरीजों से प्राप्त जानकारियों के विश्लेषण और परीक्षण से पता चला है कि बहुत से मरीजों की किडनी खराब होने के पीछे का कारण सिक्स पैक्स बनाने के लिए जिम में कराई जाने वाली खास तरह की एक्सर्साइज और स्टेरॉयड और हॉर्मोन के इंजेक्शनों का इस्तेमाल है।

शरीर को स्वस्थ रखना है जरूरी
नेफ्रॉल्जिस्ट डॉ. जितेंद्र कुमार ने बताया, ‘ऐसे युवाओं की संख्या बहुत अधिक है जो अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए एक्सर्साइज नहीं करते, बल्कि बॉलिवुड या हॉलिवुड अभिनेताओं जैसे सिक्स पैक ऐब्स पाने के लिए एक्सर्साइज करते हैं। जिम का ट्रेनर भी शरीर के शिल्पकार की तरह इन युवाओं के शरीर में बदलाव लाने के लिए खास तरह के एक्सर्साइज डिजाइन करता है, खास डायट प्लान बताता है। कई युवा स्टेरॉयड और हॉर्मोन के इंजेक्शन लेने लगते हैं और इन सब का मिलाजुला साइड इफेक्ट यह होता है कि उनकी किडनी खराब हो जाती है।’

जिम जाने की बजाए, पैदल चलें
डॉ. जितेंद्र ने कहा, ‘एक्सर्साइज और योग शरीर और स्वास्थ्य के लिए अच्छा है, लेकिन इसे विकृत करके नहीं करना चाहिए। इसके अलावा लोगों को शारीरिक कामकाज करना चाहिए, जितना हो सके पैदल चलना चाहिए। आज के समय में लोग सब्जी खरीदने भी कार से जाते हैं, लेकिन बाद में ट्रेडमिल पर पसीने बहाते नजर आते हैं। हर व्यक्ति के शरीर की बनावट अलग होती है। बेहतर है कि किसी दूसरे के शरीर जैसा अपना शरीर बनाने के बजाय अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हमें समुचित व्यायाम, योग, पैदल चलने और समुचित आहार जैसे उपायों को अपनाना चाहिए।'