बिहार चुनाव 2020: हत्या, अपहरण समेत 38 मामलों के आरोपित हैं RJD प्रत्याशी अनंत सिंह

0
1

पटना                                                                                                                                                                                                    
बाहुबली विधायक अनंत कुमार सिंह मोकामा विधानसभा से चार दफे लगातार जीत हासिल करने के बाद पांचवीं बार भाग्य आजमा रहें है। तीन बार जदयू, चौथी बार निर्दलीय उम्मीदवार बने और मोकामा की जनता ने इनपर भरोसा जताकर इन्हें जीत दिलाया। अबकी बार राष्ट्रीय जनता दल(राजद) के उम्मीदवार बने हैं।

हत्या सहित कुल 38 मामले के आरोपित
बाहुबली अनंत सिंह का आपराधिक इतिहास रहा है। इनके द्वारा दिये गये शपथ पत्र के अनुसार सन 1979 में पहली बार हत्या के मामले में आरोपित हुये। इनके विरुद्ध हत्या का पहला मामला पटना जिले के बाढ़ थाने में दर्ज हुआ था। अबतक इनके खिलाफ प्रदेश के विभिन्न जिलों में कुल 38 मामले दर्ज हैं। जिनमें पटना जिले में 34,लखीसराय 2,गया और मुंगेर में एक-एक मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या के 6 मामले शामिल हैं। कई में इनके खिलाफ आरोप सिद्ध नहीं हुआ है। विधायक बनने के पूर्व ये 12 आपराधिक मामलों के आरोपित रहे। जबकि विधायक रहने के दौरान इनपर दोगने से भी अधिक 26 केस दर्ज हुये। जिनमें 4 हत्या के अलावा हत्या का प्रयास, धमकी, अपहरण, यूएपीए एक्ट सहित अन्य संगीन मामले दर्ज हैं। 

विधायक बनने से पूर्व नकद 2 लाख के मालिक थे अनंत सिंह
मोकामा विधानसभा से राजद प्रत्याशी अनंत कुमार सिंह अपने शपथ में बताया है कि 2005 तक उनके पास 2 लाख रुपये नकद,15 लाख की पॉलिसी और सौ ग्राम गोल्ड था। जबकि विधायक बनने के बाद 15 सालों में कुल चल सम्पत्ति 9 करोड़ 64 लाख हो गई। जिनमें खरीदगी अचल संपत्ति का मूल्य 56 लाख है। विरासत में उन्हें 27 लाख 50 हजार की सम्पत्ति मिली। उनपर सरकारी बकाया 7 लाख 59 हजार है। जबकि 40 लाख रुपये का बैंक का कर्ज है।