प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत आवेदन 31 अक्टूबर 2020 तक आमंत्रित

0
2

मुरैना
मत्स्य पालन विभाग भारत सरकार द्वारा फलेगशिप प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना की शुरूआत की गयी है।   

मत्स्योद्योग के सहायक संचालक अखिलेश पाण्डे ने बताया कि मत्स्य विभाग भारत शासन द्वारा फलेगशिप योजना में 18 से 60 वर्ष तक की आयु के सभी मछुआरों, मत्स्य पालकों, महिला उद्यमी, पंजीकृत मछुआ सहकारी संस्थाओं एवं उनके सदस्य आदि के लिये प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना प्रारंभ की गयी है। योजना का मुख्य उद्धेश्य मछली उत्पादन एवं उत्पादकता में वृद्धि करना प्रमुख है। योजना के तहत मत्स्यबीज उत्पादन हेतु नये हैचरी की स्थापना, मत्स्यबीज संवर्धन हेतु पोखर व तालाब का निर्माण, मछली पालन हेतु नवीन तालाब का निर्माण एवं उनमें मिश्रित मत्स्य पालन, पंगेशियस, तिलापिआ मछली पालन हेतु खाद, बीज, उर्वरक, खाद्य आदि इनपुटस की व्यवस्था, रंगीन मछली की ब्रीडिंग एवं रियरिंग के लिये इकाई की स्थापना की जायेगी। इसके अलावा आरएएस मत्स्य पालन सिस्टम की स्थापना, बायोफलोक्स की स्थापना, आईस बाक्सयुक्त मोटर सायकल, मछली बिक्री हेतु आॅटो रिक्शा विथ आईस बाक्स, फिश फीड मील/प्लांट, मछली कियोस्क का निर्माण, थोक मछली बाजार का निर्माण, कल्सटर मछली पालन इत्यादि शामिल हैं। इससे संबंधित अधिक जानकारी भारत सरकार की राष्ट्रीय मत्स्यकीय विकास बोर्ड की वेबसाइट में भी देखी जा सकती है। इन सभी योजनाओं में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति व सभी वर्गों की महिला उद्यमी के लिये 60 प्रतिशत अनुदान व शेष सभी वर्गों के लिये 40 प्रतिशत अनुदान दिया जायेगा। योजनओं में लाभ लेने हेतु इच्छुक आवेदनकर्ता कार्यालय सहायक संचालक मत्स्योद्योग जिला मुरैना में 31 अक्टूबर 2020 तक आवेदन प्रस्तुत कर सकते हैं, आवेदन कार्यालय की ईमेल आईडी ंकपिेीउवत/उचण्हवअण्पद पर भी भेजे जा सकेंगे।