पेड़ से लटकता मिला नर कंकाल, एक महीने से लटक रहा था शव

0
2

कानपुर
कानपुर के साढ़ थानाक्षेत्र में बुधवार देररात नीम के पेड़ से एक नरकंकाल लटकता हुए मिलने से सनसनी फैल गई। अंधेरे में शव को ढूंढते हुए पुलिस मौके पर पहुंची। शव को पेड़ से नीचे उतारने के लिए कोई राजी नहीं था। बड़ी मुश्किल से पुलिस ने शव उतारने के लिए कुछ लोगों को राजी किया। पुलिस ने शव को उतारकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। साढ़ थानाक्षेत्र स्थित बुजुर्ग बेहटा और पसेंवा गांव के बीच पड़ने वाले जंगल में नीम के पेड़ से एक युवक का शव लगभग एक महीने से लटक रहा था। बुधवार शाम लगभग पांच बजे चरवाहों की नजर नीम के पेड़ से लटकते हुए शव पर पड़ी। इसके बाद फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तो पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। साढ़ पुलिस लगभग तीन घंटे तक जंगलों में शव को तलाश करती रही और कुछ देर बाद उसे ढूंढ निकाला।

शव नरकंकाल में हुआ तब्दील
नीम के पेड़ से लटकता हुआ शव लगभग एक महीने पुराना बताया जा रहा है। शव एक महीने पुराना हो जाने के कारण नरकंकाल में तब्दील हो चुका है। मृतक ने पैंट और शर्ट पहना हुआ है, इन कपड़ों के भीतर नरकंकाल ही मात्र बचा है। बदबू की वजह से वहां खड़ा होना भी मुश्किल हो रहा था। इसलिए शव को उतारने के लिए कोई राजी नहीं हो रहा था।

नरकंकाल की नहीं हो पाई शिनाख्त
पेड़ से लटके हुए नरकंकाल की शिनाख्त नहीं हो पाई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉटम लिए भेजा है। अब पुलिस आसपास के थानों से एक महीने में गुमशुदगी दर्ज कराने वाले परिवारों को बुलाकर शव की शिनाख्त कराने के प्रयास में जुटी है।

25 फुट की ऊंचाई पर लटका था शव
मृतक का शव नीम का पेड़ पर लगभग 25 फुट की ऊंचाई पर लटका हुआ था। बेहटा बुजुर्ग गांव में रहने वाले हलीम मियां के खेत पर नीम का पेड़ लगा हुआ है। उसी नीम के पेड़ से युवक का शव लटका हुआ पाया गया है। खेत के मालिक हलीम मियां का कहना है कि खेत पर मैं और अन्य ग्रामीण तो रोजाना आते-जाते रहते हैं, लेकिन किसी की नजर शव पर नहीं पड़ी थी। साढ़ थाना प्रभारी प्रभुकांत के मुताबिक बेहटा बुजुर्ग गांव के बाहर जंगल में नीम के पेड़ से लटके होने की सूचना पर पहुंची थी। शव काफी दिनों पुराना हो गया है, और पूरी तरह से सड़ गया है। कपड़ो में सिर्फ कंकाल मात्र ही बचा है। शव को पोस्टमॉर्टम के भेजा गया है, शव की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं।