पुरुषों को कई बीमारियों की चपेट में आने से बचाए अदरक और शहद

0
2

आजकल की इस भागदौड़ भरी दुनिया में महिलाएं और पुरुष, दोनों ही अपनी सेहत के लिए जरा भी समय नहीं निकाल पाते हैं। बिजी रूटीन या काम का दबाव होने के कारण पुरुषों को सबसे ज्यादा परेशानी होती है। इसलिए इन्हें अपनी सेहत का खास ध्यान देने की जरूरतहोती है। इस लेख में पुरुषों की सेहत के लिए दो ऐसे फूड्स का सेवन करने के बारे में बताया जाएगा जिसको खाने की सलाह आयुर्वेद भी देता है। ये फूड्स शहद और अदरक हैं।

शहद और अदरक लगभग अब सभी घरों में पाए जाते हैं। जो लोग शहद का सेवन अभी तक नहीं भी करते थे, अब उनके भी घर में शहद का इस्तेमाल किया जाने लगा है। वहीं, पुरुष अगर शहद और अदरक दोनों का एक साथ सेवन करें तो इससे उन्हें नीचे बताए जा रहे 5 खास फायदे मिलेंगे।

सर्दी, खांसी से मिलेगा छुटकारा
सर्दी, खांसी के घरेलू उपचार की बात करें तो उसमें शहद और अदरक का जिक्र आपने कई बार सुना होगा। यह मुमकिन भी है और इसका फायदा बहुत से लोगों को मिलता भी है। वैज्ञानिक रूप देखा जाए तो NCBI ने भी इस बारे में पुष्टि की है कि अदरक और शहद में ऐसे औषधीय गुण मौजूद हैं जो सर्दी, खांसी और जुकाम की समस्या से राहत दिला सकते हैं और इसके जोखिम को भी कम कर देते हैं।

फेफेड़े रखेंगे स्वस्थ
जिन पुरुषों को धुम्रपान करने की आदत है उन्हें तो जरूर अदरक और शहद का सेवन करना चाहिए। इन दोनों फूड्स का सेवन करने से रेस्पिरेट्री सिस्टम ठीक तरह से कार्य करता है। इतना ही नहीं, यह सांस से जुड़ी कई बीमारियों के खतरे को भी कम देता है। इसका सीधा प्रभाव फेफड़ों को मजबूत बनाए रखने के लिए मददगार साबित होगा।

हड्डी रोगों का खतरा हो जाएगा कम
हड्डी रोग से जुड़ी कई प्रकार की बीमारियां उम्र ढलने के साथ ही जकड़ने लगती हैं। इसलिए जरूरी है कि ढलती उम्र के साथ पुरुषों को अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए। गठिया, अर्थरायटिस जैसी बीमारियां पुरुषों को ही सबसे पहले अपना शिकार बनाती हैं। रिसर्चगेट के अनुसार, जिन पुरुषों को हड्डी से जुड़ी समस्याएं हैं या जो हड्डी रोगों से बचे रहना चाहते हैं उनके लिए शहद और अदरक दोनों फूड बहुत फायदेमंद साबित होंगे।

प्रोस्टेट कैंसर का खतरा होगा कम
पुरुषों में इस कैंसर का खतरा सबसे ज्यादा होता है। इसलिए इसकी चपेट में आने से बचे रहने के लिए समय पर जरूरी कदम उठाना बहुत जरूरी है। शहद की बात की जाए तो इसमें अल्फा टोकोफेरोल (विटामिन-ई का एक स्वरूप) होता है। यह प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को कम करने के लिए एक सक्रिय पौष्टिक तत्व माना जाता है। वहीं, शहद में मौजूद सेलेनियम अन्य कैंसर के जोखिम से भी बचाता है।

गले की खराश
पुरुषों को अक्सर गले की खराश का सामना करना पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि वह अक्सर अपनी डायट या खाने-पीने की आदत पर खास ध्यान नहीं देते हैं। इसलिए जिन पुरुषों को ऐसी समस्या हो उन्हें अदरक को कूटकर उसे शहद के साथ रात में सोने से पहले खाना चाहिए।