नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कांग्रेस छोड़ी तो क्या वह गद्दार थे ,कमलनाथ जबाब दे

0
2

ग्वालियर

ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भाजपा में शामिल कराने के लिए आयोजित तीन दिवसीय संभाग स्तरीय सदस्यता ग्रहण समारोह में शामिल होने पहुंचे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के निशाने पर कमलनाथ रहे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने जनता से छल किया, वादा खिलाफ़ी की। गद्दारी आपने की और दोष दूसरे पर मढ़ते हो, कमलनाथ तुम्हें जनता कभी माफ नहीं करेगी।

22,23 और 24अगस्त तीन तीन तक चलने वाले संभाग स्तरीय सदस्यता ग्रहण समारोह की शुरुआत ग्वालियर विधानसभा के कार्यक्रम से हुई। कार्यक्रम में शामिल हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने मंच से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जनता के साथ धोखा करने वाले दूसरों को गद्दार कहते हैं। आपने ना प्रदेश की जनता का साथ दिया ना मंत्रियों विधायकों का। आपके पास मंत्रियों और विधायकों से मिलने तक का समय नहीं था। यहाँ मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर बैठे हैं उनसे पूछिये, जब भी वे मुख्यमंत्री कमलनाथ के पास गए उन्होंने वापस कर दिया,कहा बाद में आना। उनके पास सिर्फ ठेकेदारों और उद्योगपतियों से मिलने का समय था। जब भी कोई विकास की बात करता कहते पैसे ही नहीं हैं, ग्वालियर चंबल के लोगों को देखकर उनका मुँह बन जाता था, मुख्यमंत्री रहे तब ग्वालियर नहीं आए, सिर्फ़ वल्लभ भवन में ही पूरे समय रहते थे। सीएम ने कहा कि प्रदेश की जनता की पीठ में छुरा घोंपने का काम कमलनाथ जी आपने किया। इसलिए जनता तुम्हें कभी माफ नहीं करेगी।

ज्योतिरादित्य सिंधिया की तारीफ करते हैं सीएम ने कहा कि जब सिंधिया जी ने जनता की भलाई और प्रदेश के विकास की बात की उनके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया। वोट इनके नाम पर मांगे कुर्सी पर खुद बैठ गए। और अब आप इन्हीं पर उंगली उठा रहे हैं। शिवराज ने कहा कि जो भी कांग्रेस को छोड़कर जाता है उसे गद्दार कहते हो। मुझे जरा बताओ, 1923 में मोतीलाल नेहरू ने कांग्रेस छोड़कर स्वराज पार्टी बना ली। तो का वे गद्दार थे, नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने कांग्रेस छोड़ी, मोरारजी देसाई, बीजू पटनायक, ममता बनर्जी, ऐसे बहुत से नेता हैं जिन्होंने कांग्रेस छोड़ दी तो क्या ये सब गद्दार हो गए? कमलनाथ जी जवाब दीजिए। कांग्रेस की नीतियों से परेशान होकर कई नेताओं ने पार्टी छोड़ने का काम किया। जब भी कांग्रेस के नेता उसका हाथ छोड़ते हैं, तो ये उन्हें बदनाम करने में लग जाते हैं, लेकिन अपनी नीतियों को सुधारने के लिए ये तैयार नहीं होते हैं। अंत में शिवराज ने कहा कि वहाँ चेहरा कमलनाथ का होता है लेकिन दिमाग जिसका होता है मैं उसका नाम भी नहीं लेना चाहता वरना मुझे नहाना पड़ेगा। इसलिए आपको तय करना है आपको वो जोड़ी चाहिए कि ये जोड़ी, ये टीम जो परिवार कि तरह काम करती है। उन्होंने हाथ उठवाकर, मुट्ठी बंधवाकर संकल्प दिलाया कि भाजपा और प्रद्युम्न सिंह तोमर को आने वाले उप चुनाव में जीत दिलाना है।

जनता का खून चूसकर उद्योगपति बन गए कमलनाथ जी -वीडी शर्मा

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। वीडी ने कहा कि कमलनाथ जी जनता का खून चूसकर उद्योगपति बन गए,वे बताएं कि जनता से उनका सम्बंध क्या है ? कमलनाथ जी, अपने पैसे के बल पर आपने जनता के साथ छल किया।सिंधिया जी के साथ कमलनाथ जी ने छल किया। कांग्रेस ने सिंधिया के चेहरे पर वोट माँगे बहुमत लेकर मुख्यमंत्री ख़ुद बन बैठे । प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा परिवार में सभी नवागत कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करता हूँ। मैं आप सभी को यह विश्वास दिलाता हूँ कि यहाँ आपको कभी किसी भेदभाव का दंश नहीं झेलना पड़ेगा। ये एक परिवार है।