नामान्तरण बटवारा में विलम्ब बर्दाश्त नहीं – कलेक्टर वर्मा

0
5

मुरैना
कलेक्टर श्री अनुराग वर्मा ने जिले के राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिये कि नामान्तरण बटवारा में अधिकारी तेजी लाये। विशेषकर फोती नामान्तरण में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। फोती नामान्तरण तो बिना आवेदन किये हुये उसे प्राथमिकता दे। यह निर्देश उन्होंने बुधवार को राजस्व अधिकारियों की बैठक में दिये। इस अवसर पर समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार उपस्थित थे। 

कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि राजस्व अधिकारी अपनी कुर्सी का महत्व समझे। पटवारी, आरआई को उनके दायित्वों को समझायें। उन्हें नामान्तरण बटवारा समय पर करने के निर्देश दें। उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा चार्ज लेने के पश्चात् सर्वप्रथम पहली टीएल बैठक में निर्देश दिये थे कि आरआई, पटवारी अपने-अपने क्षेत्र में जायें, कैम्प लगायें और लंबित नामान्तरण, बटवारों का निराकरण करें। विशेषकर फोती नामान्तरण की शिकायत मेरे संज्ञान में नहीं आना चाहिये। 

कलेक्टर ने कहा कि मैं खुद गांव जाकर वी-1 का वाचन करूंगा। वाचन के दौरान कोई भी नामान्तरण विशेषकर फोती नामान्तरण मेरे संज्ञान में आया तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाही की जायेगी। कलेक्टर ने कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि प्राथमिकता पर है। अगर किसी पिता के तीन या चार लड़के है और उनका नामान्तरण फोती नहीं हुआ है, तो इस स्थिति में उन्हें पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ नहीं मिलेगा। इस स्थिति में वे इस योजना से वंचित रह जायेंगे। 

कलेक्टर ने कहा कि जिले में 9 हजार 755 नामान्तरण लंबित है। इन्हें राजस्व अधिकारी प्राथमिकता के साथ निराकरण करें। उन्होंने कहा कि समस्त एसडीएम अपने अधीनस्थ राजस्व न्यायालयों का निरीक्षण करें। निरीक्षण प्रतिवेदन बनाकर मुझे 15 दिवस में मुझे उपलब्ध करायें। इसके बाद मुझे किसी भी राजस्व कोट में किसी भी प्रकार के पैडेंसी मिली तो उन राजस्व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाही होगी। कलेक्टर ने कहा कि मुझे नामान्तरण, बटवारे में 70 प्रतिशत प्रोग्रेस चाहिये। इस अवसर पर उन्होंने राजस्व वसूली में तेजी लाने के निर्देश भी राजस्व अधिकारियों को दिये।