नर्मदा उफान पर घाटों पर लगाई रोक

0
3

होशंगाबाद
 बरगी डेम से पानी छोड़े जाने के बाद जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है। नदी का जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है और नर्मदा उफान पर आ रही है। बरगी डेम के 13 गेट 2.96 मीटर खोले गए हैं। जिसमें से 2 लाख 2 हजार 855 क्यूसिक पानी डिस्चार्ज हो रहा है। शाम तक डेम का पानी होशंगाबाद जिले में तवा से होते हुए नर्मदा में प्रवेश कर जाएगा। इससे जल स्तर में तेजी से बढ़ोतरी होगी। शाम 4 बजे मुख्य सेठानीघाट पर नर्मदा का जलस्तर 941 फीट पर पहुंच गया था। यहां नर्मदा का अधिकतम जल स्तर 967 फीट है। इस लेबल से फिलहाल नर्मदा अभी 26 फीट नीचे चल रही है। आगामी संभावित बाढ़ के मद्देनजर होमगार्ड के गोताखोर-सैनिक घाटों व तटों पर तैनात किए गए हैं। घाटों पर लोगों की आवाजाही पर भी रोक लगा दी गई है। होमगार्ड के दल किसी भी स्थिति में बचाव व सुरक्षा के लिए पूरी तरह मुस्तैद हो गए हैं।

घाटों पर लगाए गए बैरीकेट्स
जिला प्रशासन के निर्देश पर नपा एवं राजस्व, होमगार्ड और पुलिस के दलों ने मुख्य सेठानीघाट सहित अन्य पक्के घाटों पर बैरीकेट्स लगाकर लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। लोग खतरा मोल लेकर नर्मदा में आई बाढ़ को देखने पहुंच जाते हैं, इसलिए यह कदम पहले से ही उठाए गए हैं।

नर्मदा और बांधों का जल स्तर
19 अगस्त को शाम 4 बजे का नर्मदा का सेठानीघाट पर जल स्तर करीब 941 फीट पर चल रहा था। वहीं तवा डेम का जल स्तर 1148.40 फीट पर है, जबकि इसकी अधिकतम भराव क्षमता 1166 फीट है। बरगी डेम जबलपुर का जल स्तर 422.45 फीट पर चल रहा। इसकी अधिकतम जल भराव क्षमता 422.76 मीटर है। बारना डेम का जल स्तर 345.50 मीटर चल रहा है, जबकि इसकी अधिकतम जल भराव क्षमता 348.55 मीटर है। बता दें कि नर्मदा-तवा सहित बांधों के जल स्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। 24 घंटे में नर्मदा के जल स्तर में 5.30 फीट, तवा डेम के जल स्तर में 1.70 फीट की बढ़ोतरी हुई है तो वहीं बरगी डेम के जल स्तर में 1.05 मीटर की बढ़ोतरी हुई है।