धरने देने आए विद्यामितान के टेंड उखड़वा पुलिस ने

0
2

रायपुर
बालोद, राजनांदगांव, कोरबा, बिलासपुर जैसे दूर-दराज के इलाकों से विद्यामितान (अनियमति शिक्षक) रोजगार की मांग को लेकर सुबह धरना स्थल बुढ़ातालाब पहुंचकर अपना टेंट लगा रहे थे कि पुलिस को सूचना मिल गई और वे वहां पहुंचकर टेंट का काम करने वाले को फटकारा और टेंट खोलने को कह उखड़वा दिए। इससे गुस्साए विद्यामितानों का कहा कि पुलिस भेजकर हम पर आंदोलन खत्म करने का दबाव बनाया जा रहा है। बिना टेंट के वे क्रमिक भूख हड़ताल शुरू कर दिए और सोमवार को शव यात्रा निकालने का निर्णय लिया।

विद्यामितान अनियमित शिक्षक हैं, जो प्रदेश के ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में बच्चों को पढ़ा रहे थे। खासकर वहां जहां शिक्षकों की कमी है। अब इन्हें रोजगार से हटा दिया गया है और वेतन भी नहीं दिया जा रहा। इसी बात के विरोध में रविवार से दो दिनों का विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया। रविवार को बालोद, राजनांदगांव, कोरबा, बिलासपुर जैसे दूर-दराज के इलाकों से विद्यामितान (अनियमति शिक्षक) आपस में चंदा कर बुढ़ातालाब धरना स्थल पहुंचे और टेंट लगवाकर अपना विरोध जताने की तैयारी कर रहे थे कि पुलिस वहां पहुंची और टेंट का काम रहे मजदूरों को फटकार लगाते हुए टेंट उखाड?े के लिए कहा।

इस पर प्रदर्शनकारियों ने कहा कि लंबे वक्त से हम सरकार से रोजगार की मांग कर रहे हैं। आज जब अपनी बात रखने लोकतांत्रिक तरीके का सहारा ले रहे हैं तो पुलिस भेजकर हम पर आंदोलन खत्म करने का दबाव बनाया जा रहा है। इस बीच उन्होंने बिना टेंट के ही भूख हड़ताल शुरू कर दी और सोमवार को सरकार के खिलाफ पुरजोर विरोध-प्रदर्शन करते हुए शव यात्रा निकालने का निर्णय लिया।