देखरेख और चलाने के लिए दिए ट्रक को आरोपी द्वारा कबाड़ में कटवाया

0
3

शिवपुरी
देखरेख और चलवाने के लिए दिए गए ट्रक को आरोपी द्वारा मालिक को सूचना दिए बगैर ही उसे कबाड़ में कटवाया दिया गया और जब उसके इस कृत्य का खुलासा हुआ तो ट्रक मालिक द्वारा आरोपी के खिलाफ पुलिस थाना देहात में शिकायत दर्ज कराई गई जिस पर पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध धोखाधड़ी की विभिनन धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध कर मामला विवेचना में ले लिया है।

पुलिस थान देहात में फरियादी हरज्ञान पुत्र किशन लाल प्रजापति निवासी विजयपुर कॉलोनी ने शिकायत में बताया कि उन्होंने अपना ट्रक एमपी 07 जी 1874 को अपने साथी विवेक सिंघल, कैलाश मंगल राठौर, अब्दुल रफीक खान अप्पल के समक्ष उसे चलवाने के लिए आबिद बेग मिर्जा पुत्र हमीद मिर्जा निवासी मठ के पास पुरानी शिवपुरी को बतौर अमानत के रूप में दिया था और आबिद बेग मिर्जा द्वारा फरियादी हरज्ञान को 4 लाख रूपये देने का तय हुआ था जिसमें आबिद बेग मिर्जा द्वारा दो यूको बैंक के एक-एक लाख रूपये के चैक भी देना तय हुआ था व 2 लाख रूपये बाद में देना तय हुआ था। यह सब एक पंचायत दिसम्बर 2018 में हुई थी तब तय किया गया था लेकिन आबिद द्वारा किसी तरह का कोई पैसा ट्रक मालिक हरज्ञान को नहीं लौटाया गया।

इसी दौरान बीती 13 सितम्बर 20 को आबिद बेग मिर्जा द्वारा बताया किया कि वह अब कोई पैसा नहीं देगा और फरियादी के साथ मॉं-बहिन की अश£ील गालियां देने लगा। इस मामले को लेकर फरियादी हरज्ञान प्रजापति ने अपने ट्रक के फोटो मय कागजात के साथ पुलिस थाना देहात को दिए और पुलिस ने मामले में जांच उपरांत आबिद बेग मिर्जा के विरूद्ध धारा 406,407,507 भादवि के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया।

हरज्ञान प्रजापति ने बताया कि उन्होंने तो मिस्त्री होने के चलते आबिद बेग मिर्जा से अपना ट्रक चलवाया था लेकिन आबिद ने बिना बताए ही हरज्ञान प्रजापित के ट्रक को कबाड़ में काटकर बेच दिया और जब उससे तय राशि मांगी गई तो वह पलट गया। ऐसे में फरियादी हरज्ञान के पैसे भी गए और ट्रक भी लूट गया। इस तरह अपने साथ हुई धोखाधड़ी को लेकर पुलिस थाना देहात में शिकायत की जिस पर पुलिस ने अब प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।