दुर्गम वन क्षेत्रों में निवासरत ग्रामीणों-वनकर्मियों को 71 लाख रुपये की आर्थिक सहायता

0
10

 भोपाल
कोविड-19 के लॉकडाउन के दौरान टाइगर फाउण्डेशन ने दान-संग्रह के विशेष अभियान से 71 लाख रुपये एकत्रित कर दुर्गम वन क्षेत्रों में निवासरत ग्रामीणों तथा वनकर्मियों की सहायता की। इसी प्रकार राष्ट्रीय उद्यानों में काम करने वाले गाइड तथा वाहन-चालकों को भी अस्थायी रोजगार उपलब्ध करा कर आर्थिक सहायता पहुँचाई गई।

दुर्गम संरक्षित क्षेत्रों में कार्यरत एक ही स्थान पर तैनात रहने वाले वनकर्मी सामान्यत: पेट्रोलिंग कैम्प में एक सप्ताह का ही राशन रखते हैं। टाइगर फाउण्डेशन सोसायटी ने वनकर्मियों के साथ ही गाइड्स, वाहन-चालक एवं दुर्गम वन क्षेत्रों के समीप निवासरत ग्रामीणों के लिये भी कई संस्थाओं और आमजन के सहयोग से 56 लाख रुपये जमा कर वनकर्मी और ग्रामीणों के लिये राशन तथा दैनिक उपयोग की वस्तुओं की लॉकडाउन के दौरान व्यवस्था की।

मध्यप्रदेश के टाइगर रिजर्व में गाइड तथा वाहन-चालकों की आजीविका पर्यटन पर ही निर्भर रहती है। लॉकडाउन अवधि में सभी संरक्षित क्षेत्र में अनिश्चित काल के लिये पर्यटन स्थगित होने से सभी गाइड, वाहन-चालक के पास रोजगार नहीं था। मध्यप्रदेश टाइगर फाउण्डेशन सोसायटी ने डोनेशन कैम्प के द्वितीय चरण में विभिन्न संस्थाओं से सम्पर्क कर लगभग 15 लाख रुपये दान में प्राप्त कर उन्हें अस्थायी रोजगार उपलब्ध करवाया।