ट्रेनी महिला दारोगा को थाने से धक्के मारकर निकालने पर राज्य आयोग ने तलब की रिपोर्ट

0
2

मुजफ्फरपुर 
बिहार के मुजफ्फरपुर के कुढ़नी थाना अंतर्गत फकुली ओपी से प्रशिक्षु महिला दारोगा कविता कुमारी को धक्के मार निकालने की शिकायत पर राज्य महिला आयोग ने जांच रिपोर्ट तलब की है। घटना बीते 30 अगस्त की है। 

ओपी प्रभारी पर प्रशिक्षु दारोगा और उसके पति के साथ मारपीट और बदसलूकी करने का आरोप लगा है। इस संबंध में सोमवार को प्रशिक्षु दारोगा ने राज्य महिला आयोग में शिकायत की और अपना पक्ष रखा है। इसपर राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने मुजफ्फरपुर एसएसपी से जांच कर रिपोर्ट तलब की है। साथ ही आरोपित ओपी प्रभारी उदय कुमार सिंह और प्रशिक्षु दारोगा को आयोग के समक्ष पेश कराने का निर्देश दिया है।

डीजीपी ने रेंज आईजी से जांच कर मांगी रिपोर्ट:
इस घटना की जानकारी होने पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने भी संज्ञान लिया है। तिरहुत रेंज के आईजी गणेश कुमार को जांच कर रिपोर्ट मांगी है। आईजी गणेश कुमार ने इसकी पुष्टि की है। वे दोनों पक्ष का बयान दर्ज करेंगे। फिर ओपी के अन्य पदाधिकारी और जवान का भी बयान दर्ज करेंगे।

पटना में इलाज करा रही थी प्रशिक्षु दारोगा:
महिला आयोग को दिए आवेदन में प्रशिक्षु दारोगा कविता कुमारी ने बताया कि प्रशिक्षण केंद्र बंद होने के बाद से करीब पांच माह से फकुली ओपी पर प्रतिनियुक्त थी। इस दौरान वह और उसके पति कोरोना संक्रमित हो गए थे। पटना में इलाज कराया। इस संबंध में डॉक्टर की पर्ची भी महिला आयोग के समक्ष प्रस्तुत की है। तबीयत ठीक होने के बाद वह 30 अगस्त को ओपी पर ड्यूटी पर आई थी, जहां उसके और उसके पति के साथ मारपीट व बदसलूकी की गई।

एक माह से अधिक समय से थी गायब:
एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि प्रशिक्षु महिला दारोगा करीब एक माह से ड्यूटी से गायब थी। अचानक 30 अगस्त को वह ओपी पर लौटी। इसके बाद ओपी प्रभारी ने उनसे कहा कि वे थाने पर ही रहे। वरीय अधिकारी आने वाले हैं, लेकिन वह नहीं मानी और पटना लौटने की जिद करने लगी। इसपर ओपी अध्यक्ष ने नाराजगी जाहिर की। इसके बाद प्रशिक्षु दारोगा का पति ओडी अफसर और एक अन्य प्रशिक्षु महिला दारोगा से ओपी परिसर में ही हाथापाई करने लगा। इस दौरान ओडी अफसर को चोट भी आई है। प्रशिक्षु महिला दारोगा का पति ओपी पर कई घंटे से जमा था।

एसएसपी ने कहा, ऑडियो व वीडियो से मिले साक्ष्य:
एसएसपी जयंतकांत ने बताया कि इस पूरे प्रकरण को लेकर उन्होंने अपने स्तर से जांच की है। इस दौरान उन्हें पूरे विवाद का ऑडियो और वीडियो भी मिला है। इसकी वह जांच स्वयं कर रहे हैं। वीडियो व ऑडियो सत्यापित होने पर दोषी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के साथ बर्खास्तगी की भी अनुशंसा वरीय अधिकारी के पास की जाएगी। फिलहाल आईजी जांच कर रहे हैं।