जिम जाकर वजन उठाने वाले न करें ये गलतियां

0
13

 

आज के समय में युवा हो या मध्य आयु के लोग, यह सभी खुद को फिट बनाए रखने के लिए जिम जरूर जाते हैं। जिम जाकर वजन उठाने के फायदे तो बहुत हैं। इससे आपके मसल्स बनते हैं हड्डियों के जोड़ मजबूत होते हैं। इसके अलावा इससे आपके हृदय को भी फायदा होता है। लेकिन जिम जाकर गलत तरीके से वजन उठाना कई बार बहुत भारी पड़ सकता है।

आप सभी ने ऐसी बहुत से वीडियो या बातें सुनी होंगी जहां जिम में वजन उठाने के दौरान लोगों अपनी जान तक गंवा दी। आमतौर पर वजन उठाने के दौरान लोग कुछ गलतियां करते हैं। आज हम आपको 4 ऐसी ही गलतियों के बारे में बताएंगे जो आपको वेट लिफ्टिंग के दौरान करने से बचना है।

सांस रोकना पड़ सकता है भारी
हम जब भी अपने शारीरिक बल का अधिक उपयोग करते हैं तो अक्सर हम सांस रोक लेते हैं। यह भले ही स्वाभाविक हो और आपने भी ऐसा अनुभव किया हो। लेकिन यह स्थिति आपको समस्या में डाल सकती है। जब आप ऐसा करते हैं तो इससे आपका ब्लड प्रेशर अचानक बढ़ जाता है, जिससे आपको हर्निया की समस्या हो सकती है। इसके अलावा कई बार तो लोग इस स्थिति में बेहोश तक हो जाते हैं। ऐसे में अगर आप अधिक वजन उठाते हैं या सामान्य वजन भी उठाते हैं, तो खुद पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित करें। आप जब वजन उठाएं तो आपको सांस छोड़नी है। इसके बाद जब आप वापस वजन उठाने की पोजीशन में पहुंचे तो सांस लेनी है। इससे आपका ब्लड प्रेशर भी संतुलित बना रहेगा।

मसल्स को आराम ना देना
आमतौर पर जिम जाकर मसल्स ट्रेनिंग करने वाले लोगों को मसल्स में दर्द का एहसास होता है। ऐसे में अगर आप अपने मसल्स की ग्रोथ चाहते हैं तो इन्हें एक लंबा आराम जरूर दें। कई बार मसल्स ट्रेनिंग करने के अगले दिन भी उस मसल्स में दर्द रह सकता है जिसकी आपने ट्रेनिंग की थी। इस स्थिति में आप अपने उस बॉडी पार्ट को कम से कम 48 घंटे तक आराम दें। यानी इस दौरान आप फिर से उसी पार्ट की एक्सरसाइज ना करें। इससे मसल्स पूरी तरह हील हो जाएगा और ग्रोथ होगी। मसल्स ट्रेनिंग में हर बॉडी पार्ट के लिए एक दिन तय रखें। जैसे आप एक दिन बाइसेप्स की एक्सरसाइज करें, अगले दिन चेस्ट की, फिर बैक, और लेग्स। इस तरह मसल्स ट्रेनिंग करने पर आपके हर मसल्स को हील होने का पूरा समय भी मिलेगा और आपको किसी प्रकार की इंजरी भी नहीं होगी।

टेक्निक में गड़बड़
जिम जाने वाले ज्यादातर लोग अक्सर एक्सरसाइज अपनी मर्जी से करना शुरू कर देते हैं। इस दौरान जब वह वजन उठाते हैं तो उनकी पोजीशन और टेक्निक दोनों ही सही नहीं होती। इसलिए आप जब भी जिम जाएं और मसल्स ट्रेनिंग करें तो जिम के ट्रेनर के सामने ही एक्सरसाइज करें। हो सकता है कि इसके लिए आपको कुछ अधिक पैसे भी भरने पड़ें, लेकिन इससे ना केवल आपके मसल्स जल्दी ग्रो करेंगे, बल्कि आपको इंजरी होने का खतरा भी नहीं रहेगा। यह बात केवल नए लोगों पर ही नहीं बल्कि अनुभवी लोगों पर भी लागू होती है। इस फील्ड से जुड़े विशेषज्ञ बताते हैं कि अगर किसी को मसल्स ट्रेनिंग करते हुए एक लंबा समय हो भी गया हो, तो भी उसे ट्रेनर के सामने ही वेट लिफ्टिंग करनी चाहिए। ताकि उसकी पोजीशन और टेक्निक सही बनी रहे।

अपने शरीर की सुनें
एक्सरसाइज करते समय कई बार आपके अलग-अलग पार्ट में खिंचाव या दर्द महसूस होता है। ध्यान रहे हम उस दर्द की बात नहीं कर रहे जो एक्सरसाइज के दौरान मसल्स में होता है। हम बात कर रहे हैं अन्य खिंचाव और दर्द की। जिसकी वजह से आप एक्सरसाइज नहीं कर पा रहे। लेकिन आप फिर भी रुक नहीं रहे और एक्सरसाइज किए जा रहे हैं। यह करना आपको एक गंभीर समस्या में डाल सकता है। विशेषज्ञ कहते हैं कि अगर एक्सरसाइज के दौरान किसी अन्य तरह का दर्द महसूस हो रहा हो, तो आपको उस पार्ट की एक्सरसाइज को तुरंत ही छोड़ देना चाहिए। ऐसे में अपने शरीर के दर्द को नजरअंदाज करना एक भयंकर इंजरी को जन्म दे सकता है।