चचेरे भाई-बहन के बीच पनपे प्यार को घरवालों की नामंजूरी, चाचा और भाई ने कर दी हत्या

0
2

भिलाई। भाई-बहन का रिश्ता अटूट होता है लेकिन जब प्यार मेंं बदले तो घर वालों को नामंजूर होना लाजमी है। ऐसा ही एक मामला सुपेला के न्यू कृष्णानगर का है जहां चचेरे भाई और बहन में प्यार हो गया और दोनों चेन्नई चले गए। लापता की रिपोर्ट पर पुलिस ने उन्हें लाकर परिजनों को सौंपा लेकिन परिजनों को इन दोनों का प्यार नामंजूर था इसलिए ऐश्वर्य कोप्पल और युवक श्री हरि की उसके भाई चरण और चाचा रामू ने मिलकर पहले तो जहर पिलाया और बाद में लाश को जला दिया। पुलिस ने इस मामले में चाचा और भाई को गिरप्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है। परिवार के लोग ही जान के दुश्मन बन जाएंगे कोई नहीं जानता था।

21 सितंबर को सुपेला थाने में ऐश्वर्य कोप्पल और श्री हरि के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी। न्यू कृष्णानगर का रहने वाला कोप्पल परिवार बेटी ऐश्वर्य के गायब होने से परेशान था। पुलिस को पता चला कि वो अपने चचेरे भाई श्री हरि के साथ भाग गई थी। 7 अक्टूबर को चेन्नई से इन्हें लाकर रिश्तेदारों को सौंपा गया। बीती रात पुलिस को खबर मिली की ऐश्वर्य के घर झगड़ा हो रहा है। इसकी जांच करने पर पुलिस को ऐश्वर्य और श्री हरि नहीं मिले। पूछताछ में ऐश्वर्य का भाई चरण और चाचा रामू गोल-मोल जवाब देने लगे। पुलिस को शक हो गया। कड़ाई से पूछताछ करने पर पता चला कि ऐश्वर्य और श्री हरि को चरण और रामू ने मिलकर जहर पिला दिया और दोनों के शवों को सिरसा इलाके में नदी के किनारे जला दिया। पुलिस ने जले हुए शव बरामद कर और दोनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों ने बताया कि ऐश्वर्य के रिश्ते से नाराज होकर उन्होंने यह कदम उठाया।

उल्लेखनीय है कि रिश्ते में चचेरे भाई-बहन थे और इनके बीच पनपे प्यार से परिवार वाले काफी नाराज थे। दोनों को कई बार समझाने का प्रयास भी किया गया लेकिन इसके बाद भी वे दोनों मिलते-जुलते थे। परिवार वालों को यह रिश्ता नामंजूर था इसलिए वे दोनों शादी करने के लिए चेन्नई भाग गए थे।