कुछ नेता बिकाऊ हो सकते हैं, प्रदेश का मतदाता कभी बिकाऊ नहीं हो सकता: कमलनाथ

0
2

अनूपपुर
‘‘भाजपा यह जान ले, वह नोट बाँट ले या जो प्रलोभन दे लेकिन कुछ नेता बिकाऊ हो सकते हैं, प्रदेश का मतदाता कभी बिकाऊ नहीं हो सकता है। सौदेबाजी से भले आपने सरकार बना ली लेकिन आज का मतदाता बहुत ही ईमानदार और समझदार, इस चुनाव में वो आपको इसका जवाब जरूर देगा।

उसे पता है कि मध्य प्रदेश का भविष्य किन हाथों में सुरक्षित है, प्रदेश की कैसी तस्वीर हो, प्रदेश का कैसा नक्शा हो“ उक्त संबोधन आज अनूपपुर में एक विशाल जनसभा में देते हुए प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि भारी बरसात के बाद भी इतनी बड़ी संख्या में लोगों ने सभा में उपस्थित होकर मेरा खून तो बढ़ाया ही है साथ ही यह भी बताया है कि आपको कांग्रेस की संस्कृति पर विश्वास है।कांग्रेस की संस्कृति भाईचारे वाली व लोगों को जोड़ने वाली है।

उन्होंने उपस्थित विशाल जन समुदाय से ‘‘नर्मदा मैया की जय“ का उद्घोष कराते हुए कहा कि शिवराज जी से आज प्रदेश की जनता उनके 15 वर्ष का हिसाब मांग रही है लेकिन वह हिसाब देने को तैयार नहीं है।मैंने भी ने उन्हें चुनौती दी है कि अपने 15 वर्ष का हिसाब लेकर जनता के सामने आ जाए , मैं भी अपने 15 माह का हिसाब लेकर जनता के सामने आने को तैयार हूं।

  इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए नाथ ने कहा कि हमारा आदिवासी समाज सबसे विश्वासपात्र व ईमानदार समाज है, वह भोला-भाला है, सरल स्वभाव का है, उसे कोई खरीद नहीं सकता लेकिन जिन लोगों ने समाज को धोखा देने का काम किया है, ऐसे लोगों को समाज कभी माफ नहीं करेगा।

पंडित जवाहरलाल नेहरू और इंदिरा जी ने आजादी के बाद देश में ऐसे कानून बनाये जिससे आज आदिवासी समाज के पास अपनी जमीन सुरक्षित है, उसका भविष्य सुरक्षित है। बाबासाहेब आंबेडकर ने भारत का संविधान बनाया।आज भारत विश्व का सबसे बड़ा प्रजातांत्रिक देश है लेकिन भाजपा उनके द्वारा बनाए गए संविधान और प्रजातंत्र के साथ खिलवाड़ कर रही है।आज मध्य प्रदेश में भाजपा के कारण बिकाऊ राजनीति प्रवेश कर चुकी है।

इंदिरा जी ने कोयले की खदानों का राष्ट्रीयकरण किया।वह कहती थी कोयला जमीन के नीचे है और गरीबी जमीन के ऊपर।हम गरीबी को जमीन में ले जाएंगे और कोयले की संपत्ति को जमीन से ऊपर लाएंगे।पहले निजी कंपनी कोयला खदान चलाती थी। हमने कोयला खदानों का राष्ट्रीयकरण किया और भाजपा ने निजीकरण किया।अब यह कृषि क्षेत्र में मंडियों का निजीकरण करने जा रहे हैं।इनको जहां मौका मिलता है, किसान-मजदूर-गरीब से काम छीन कर उद्योगपति के हाथ में डाल देते हैं।यह रोजगार की छटनी करते हैं।

मैंने जब सरकार संभाली तो देखा कि प्रदेश में निवेश नहीं आ रहा है, जबकि हमारा प्रदेश तो 5 राज्यों से घिरा हुआ है क्योंकि यहाँ विश्वास का माहौल नहीं था।आखिर निवेशकों को प्रदेश पर विश्वास भी कैसे होगा, जब प्रदेश की पहचान माफिया और मिलावटखोरों से होगी।मैंने प्रदेश की इसी पहचान को बदलने का काम किया तो क्या यह मेरा गुनाह था, मेरी गलती थी? मैंने जनता को सस्ती बिजली प्रदान की, किसानों को आधी दर पर बिजली दी, 27 लाख किसानो का कर्ज माफ किया, सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि बढ़ायी, पिछड़े वर्ग को आरक्षण प्रदान किया, क्या यह मेरा पाप था?

नाथ ने कहा कि शिवराज जी आप कब तक झूठ बोलेंगे, कितना झूठ बोलेंगे, कितनी झूठी घोषणाएं करेंगे, कब तक झूठे नारियल फोड़ेंगे, जनता ने आपको घर बैठा दिया फिर भी आप झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं, आपके झूठ से तो झूठ भी शर्मा रहा है।

 कैसा प्रदेश आपने 15 वर्ष बाद हमें सौंपा था, किसानों की आत्महत्या, महिलाओं पर अत्याचार, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी में नंबर वन। यह चुनाव खत्म हो जाएंगे, यह मंच तंबू टेंट उखड़ जाएंगे लेकिन प्रदेश का युवा प्रदेश के मतदाता, प्रदेश के किसान भाई, प्रदेश की माताएं-बहने सभी यही रहेंगे। अब उन्हें तय करना है कि प्रदेश का भविष्य किन हाथों में उन्हें सुरक्षित रखना है, उन्हें सच्चाई का साथ देना है।

इस अवसर पर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के 300 से अधिक कार्यकर्ताओं ने कमलनाथ जी के समक्ष कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। अतिथि शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल ने कमलनाथ जी को ज्ञापन सौंपा। कमलनाथ जी ने उन्हें आश्वस्त किया कि चिंता ना करें कांग्रेस की सरकार फिर आएगी।

इस अवसर पर सभा को अनूपपुर के प्रत्याशी विश्वनाथ सिंह कुंजाम, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल, ओंकार सिंह मरकाम, विधायक सुनील सराफ, फू