कमलनाथ बोले, BJP वाले चांद पर घोटाला कर दें

0
34

भोपाल
कमलनाथ की सरकार ने आखिर के 6 महीने में जो फैसले लिए हैं, उसकी शिवराज सरकार जांच करवा रही है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि किसान कर्ज माफी में बड़ा घोटाला हुआ है। यह सदी का सबसे बड़ा घोटाला है। वहीं, पूर्व सीएम कमलनाथ ने भी बीजेपी के आरोपों पर जवाब दिया है। उन्होंने कहा है कि घोटालेबाजों को हर चीज में घोटाला ही नजर आता है। उनका बस चले तो वे सूरज-चांद में भी घोटाला कर दें।

बचे हुए किसानों का कर्ज करें माफ
कमलनाथ ने यह भी कहा कि सरकार किसान कर्ज माफी की जांच कराए, लेकिन बचे हुए किसानों का भी कर्जा माफ करे। उन्होंने कहा कि जो किसानों की कर्ज माफी रोकने के दोषी हैं, वे लोग घोटाले का आरोप लगाकर कर्ज माफी से बचना चाहते हैं। जिन्होंने अन्नदाता किसानों को ऋण देने में घोटाला किया वे लोग घोटाले की बात कर रहे हैं।

सारे रेकॉर्ड हैं
बीजेपी के आरोपों पर कमलनाथ ने यह भी कहा है कि पहले चरण में 21 लाख से अधिक किसानों का कर्ज माफ हुआ है। दूसरे चरण में 1 लाख रुपये तक के ऋण वाले किसानों का कर्ज माफ होना था, जिसमें लगभग 6 लाख किसानों का कर्जा माफ हो रहा था। तीसरा चरण जून 2020 तक पूरा होना था। उन्होंने कहा कि कर्ज माफ हुए किसानों की सूची और पता सब सरकार के पास है। वे चाहें तो जांच कर लें।

बीजेपी है दोषी
कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में बचे हुए किसानों का कर्ज माफ नहीं हुई तो इसके लिए बीजेपी दोषी होगी। किसानों ने कांग्रेस को वोट दिया था, कांग्रेस ने उन्हें कर्ज माफी का वचन दिया था। बीजेपी ने चुनी हुई सरकार को गिराकर प्रदेश की जनता के साथ धोखा किया है। उपचुनाव में इसका जवाब मिल जाएगा।

मजदूरों पर राजनीति
उन्होंने कहा कि बेबस मजदूरों के नाम पर मध्यप्रदेश में सिर्फ राजनीति हो रही है। कमलनाथ ने कहा कि प्रियंका गांधी ने मजदूरों के लिए यूपी में बसें भेजी हैं। इस मामले में पीएम और गृह मंत्री हस्तक्षेप करें। सीएम शिवराज सिर्फ ढिंढोरा पीट रहे हैं, मजदूर प्यासे और नंगे पैर संघर्ष कर रहा है।