उपचुनाव में प्रशिक्षण के लिए मृत प्रिंसिपल की ड्यूटी लगी

0
1

रायसेन
एमपी के रायसेन जिले में प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। मृतक प्रधानाध्यापक की चुनाव निर्वाचन प्रशिक्षण में ड्यूटी लगाई है। ऐसे में प्रशासन की काफी किरकिरी हो रही है कि मृतक प्रिंसिपल यहां प्रशिक्षण के लिए कैसे आएंगे। मामले की शिकायत जब बड़े अधिकारियों तक पहुंची, तो हड़कंप मच गया।

दरअसल, रायसेन जिले के सांची में विधानसभा उपचुनाव है। 3 नवंबर को यहां वोटिंग है। ऐसे में जिला प्रशासन ने चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है। जिले में 28 सितंबर से ही प्रशिक्षण कार्य चल रहा है। प्रशासन की तरफ से चुनावी डयूटी लगाने के दौरान मृत प्रधानाध्यापक गंगाराम उइके की उपचुनाव निर्वाचन प्रशिक्षण में ड्यूटी लगा दी है। यह शिक्षक शासकीय रिकॉर्ड में मृत नहीं है। जबकि 27 अगस्त को ही इनका निधन हो गया है।

मृतक शिक्षक शा.बा.माध्यमिक विद्यालय, बरेली में पदस्थ थे। जब वह प्रशिक्षम में नहीं पहुंचे, तब अधिकारियों को पता चला कि उनकी मौत हो गई है। एसडीएम संजय उपाध्याय ने कहा कि मामला संज्ञान में आने के बाद प्रशिक्षण ड्यूटी से उनका नाम हटा दिया गया है।

एसडीएम ने कहा कि 3 माह पहले चुनाव निर्वाचन की सूची भेजी गई थी। वहीं, प्रशिक्षण 28 सितंबर से शुरू हुआ है। प्रशिक्षण के दौरान ही पता चला कि जिस प्रधानाध्यापक की ड्यूटी लगी है, उनकी मृत्यु 27 अगस्त को हो गई थी। उनका नाम चुनाव निर्वाचन सूची से हटा दिया गया है।