आदिवासी समाज की अपील पर अपहरण किए ग्रामीणें को नक्सलियों ने किया आजाद

0
3

सुकुमा। आदिवासी समाज की मांग का असर नक्सलियों पर हुआ और उन्होंने सप्ताह भर पहले अपहरण किए गए ग्रामीणों को शुक्रवार की देर रात आजाद कर दिया। सभी ग्रामीण अपने-अपने घर सकुशल लौट आए।

उल्लेखनीय है कि 19 सितंबर को नक्सलियों ने सुकुमा जिले के रात करीब 3 बजे सभी ग्रामीण अपने घर पहुँच गए। ग्रामीणों के घर लौटने पर शुक्रवार को आदिवासी समाज के लोगों ने बैठक कर नक्सलियों से अपहरण किए गए ग्रामीणों को छोडऩे की मांग की थी। अपनी अपील में उन्होंने कहा था कि ये ग्रामीण बेकसूर और निर्दोष हैं उन्हें छोड़ दिया जाये। आदिवासी समाज की इस अपील पर नक्सलियों ने शुक्रवार की मध्य रात्रि में अपहरण किए गए ग्रामीणों को आजाद कर दिया। नक्सलियों द्वारा रिहा किए जाने के बाद सभी सभी ग्रामीण शनिवार की अल सुबह अपने घर पहुँच गए। एसडीओपी ईश्वर त्रिवेदी ने बताया कि उनके रिश्तेदारों ने फोन पर कन्फर्म किया है कि ग्रामीण घर पहुँच गए है लेकिन अभी विस्तृत जानकारी नही मिल पाई है। 22 तारीख को नक्सलियों ने युवक उईका हूंगा की हत्या कर दी थी।