आक्रामक नक्सलरोधी कार्ययोजना अमल में लाने का केंद्र सरकार का संकेत स्वागतेय : साय

0
3

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने बीजापुर-सुकमा के सीमावर्ती इलाके तर्रेम में नक्सली हिंसा के दौरान सीआरपीएफ की कोबरा बटालियन के लापता जवान राकेश्वर सिंह मनहास के नक्सलियों के पास बंदी होने पर चिंता व्यक्त है। श्री साय ने इस बात पर भी गहरा अफसोस जताया है कि सरकार की तरफ से नक्सलियों के पास बंदी जवान मनहास के बारे में कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आया है। श्री साय ने कहा कि प्रदेश सरकार को बंदी जवान की यथाशीघ्र सुरक्षित रिहाई के हरसंभव उपायों पर तेजी से काम करना चाहिए ताकि बटालियन का मनोबल बढ़े और बंदी जवान के परिजनों को राहत मिले।

साय ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार की नक्सली मोर्चे पर कमजोर नीतियों का ही यह दुष्परिणाम है कि नक्सलियों ने प्रदेश में अपने खूनी तांडव से दहशत कायम करने पर उतारू हो चले हैं और अब एक जवान को बंदी बनाकर सरकार के सामने मध्यस्थ नियुक्त करने के बाद जवान की रिहाई की शर्त रख रहे हैं। श्री साय ने ताजा नक्सली हिंसा के मद्देनज? आक्रामक नक्सलरोधी कार्ययोजना को अमल में लाने के केंद्र सरकार के संकेत का स्वागत किया है। श्री साय ने कहा कि नक्सली आतंक के खिलाफ निर्णायक लड़ाई की जरूरत पर बल देकर इसे अंजाम तक पहुँचाने की केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की वचनबद्धता लाल आतंक के खिलाफ जारी लड़ाई में शहीद हुए जवानों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी और इससे घायल जवानों का मनोबल बढ़ेगा।