अमित ने कहा बहू की इज्जत पर हाथ डालने वालों को जनता देगी जवाब

0
5

रायपुर
ऋचा जोगी के जाति प्रमाण पत्र को लेकर उपजे नए विवाद पर अमित जोगी ने कहा है कि अपनी बहू की इज्जत में हाथ डालने वालों को मरवाही की जनता जवाब देगी। अमित जोगी ने ट्वीट कर कहा कि 'जब मेरी धर्मपत्नी डॉक्टर ऋचा जोगी का पैतृक परिवार कम से कम पाँच दशकों से अनुसूचित जनजाति वर्ग से सरकारी नौकरियाँ करते आ रहा है, तब तो किसी को उनकी जाति की याद नहीं आई. आज ऋचा का केवल एक ही दोष है कि वो स्वर्गीय अजीत जोगी जी और डॉक्टर रेनु जोगी जी की बहु, मेरी धर्मपत्नी और मेरे दो महीने बेटे की माँ है। जब मेरा पिता जी से नहीं निपट पा रहे हैं तो अब मेरे दूध पीते बेटे की माँ के पीछे नहा धो के पड़ गए हैं। कांग्रेस और भाजपा जोगी परिवार के सामाजिक सम्मान की हत्या करने के लिए किसी हद तक भी जा सकती है।

अजीत जोगी और अमित जोगी के बाद इस बार ऋचा जोगी की जाति को लेकर सवाल उठे हैं। संत कुमार नेताम ने इस बाबत शिकायत भी दर्ज कराई है अपने शिकायती पत्र में नेताओं ने कहा कि रिचा ऐश्वर्य जोगी को गोंड अनुसूचित जनजाति का प्रमाण पत्र 17 जुलाई 2020 को एसडीएम मुंगेली की तरफ से जारी किया गया है। जबकि वह गोंड जनजाति की नहीं है। इधर इस मामले में अमित जोगी ने भी पलटवार किया है जोगी ने कहा कि जब वह मेरे पिताजी से नहीं निपट पा रहे तो अब मेरे दूध पीते बेटे की मां के पीछे नहा धो कर पड़ गए हैं। बता दें कि नेताओं ने अपनी शिकायत में इस बाबत अलग-अलग बिंदुओं पर आपत्ति दर्ज कराई है।उन्होंने आरोप लगाया है कि आवेदन में आवेदक का हस्ताक्षर नहीं है वही फोन नंबर और मेल आईडी भी दूसरे व्यक्ति का है।

शपथ पत्र में रिचा रूपाली साधु नाम से आवेदन है जबकि हस्ताक्षर में आर जोगी लिखा है।यही नहीं आधार कार्ड भी आवेदन में नहीं देने का आरोप लगाया है। इसके अलावा आवेदन में अलग-अलग त्रुटियों को बताया गया है। आरोप यह भी है कि आवेदन मेरी जानी कृषि भूमि हो नहीं होने की बात कही है जबकि पटवारी प्रतिवेदन में कृषि से आए होना बताया गया है।