अब कराटे खिलाड़ी भी खेल सकेंगे ओलंपिक और एशियाई खेल, मिली मंजूरी

0
2

 लखनऊ 
राज्य में कराटे की ट्रेनिंग करने वाले करीब 50 हजार खिलाड़ी भी अब ओलंपिक और एशियाई खेल में हिस्सा लेने का सपना देखने लगे हैं। राज्य ही नहीं देश भर के कराटे खिलाड़ी अब ओलंपिक और एशियाई खेलों में हिस्सा ले सकेंगे। वर्ल्ड कराटे फेडरेशन ने भारत में कराटे का संचालन कर रही संस्था कराटे इण्डिया ऑर्गेनाइजेशन को मान्यता दे दी है।

 कराटे को टोक्यो ओलंपिक में शामिल किया गया है। इसके पूर्व यह एशियाई खेल में शामिल हो चुका है। ऐसे इसमें भारतीय खिलाड़ी तभी हिस्सा ले सकते थे जब वे विश्व कराटे चैंपियनशिप और एशियाई कराटे चैंपियनशिप में शिरकत करें। इसमें तभी वे शिरकत कर सकते हैं जब उनके संघों को वर्ल्ड कराटे फेडरेशन की मान्यता मिली हो। वर्ल्ड कराटे ने कराटे इण्डिया ऑर्गेनाइजेशन को 14 सितम्बर को मान्यता प्रदान की है।

अब खिलाड़ी बनाएंगे भविष्य
कराटे एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के सचिव जसपाल सिंह ने बताया कि इसके पूर्व कराटे को लोग फिटनेस और आत्मरक्षा के लिए सीखते थे। कराटे की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारतीय खिलाड़ी खेलते हैं। पर ओलंपिक और एशियाई खेल में नहीं खेल पाते थे। अब कराटे खिलाड़ी इन दो बड़े आयोजनों में खेल सकेंगे। इसके बाद खिलाड़ी अब इस खेल में भी भव्य तलाशेंगे। ओलंपिक और एशियाई खेल में पदक जीतने का सपना पालेंगे।

उत्तर प्रदेश में 50 हजार खिलाड़ी कराटे सीखते हैं
उत्तर प्रदेश में करीब 50 हजार खिलाड़ी कराटे सीखते हैं। इनमें सबसे ज्यादा 30 हजार सब जूनियर यानी बच्चे हैं। इसका कारण यही है कि अभिभावक अपने बच्चों को आत्मरक्षा और फिटनेस के लिए कराटे सिखाते हैं। यह स्कूलों से लेकर पार्कों तक में सिखाया जाता है। सीनियर स्तर पर नौकरी न मिलने के कारण इनकी संख्या बहुत कम यानी करीब 3000 हजार के आसपास है। वहीं 15 से 17 हजार के बीच जूनियर स्तर के खिलाड़ी हैं। यही नहीं राज्य भर में करीब 1500 हजार कराटे प्रशिक्षक हैं।

कराटे प्रतियोगिता अक्तूबर में
कराटे इण्डिया आर्गेनाइजेशन अक्तूबर के तीसरे सप्ताह में वर्चुअल राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप का आयोजन कर रहा है। इसके पूर्व राज्य स्तरीय चैंपियनशिप होगी। इसके विजेता राष्ट्रीय स्तर पर हिस्सा लेंगे। आयोजन सचिव जसपाल सिंह ने बताया कि इसमें सिर्फ ई-काता स्पर्धा होगी। यह एकल स्पर्धा है। इसमें खिलाड़ियों को दो मिनट का ई-काता के प्रदर्शन का वीडियो भेजना होगा। वीडियो बिना संपादित और वास्तविक होना चाहिए। इन वीडियों में श्रेष्ठ खिलाड़ियों की इंट्री राष्ट्रीय चैंपियनशिप के लिए भेजी जाएगी। स्वर्ण पदक विजेता को 21 हजार, रजत पदक विजेता को 11 हजार और कांस्य पदक विजेता को 51 सौ रुपये का नगद पुरस्कार दिया जाएगा।

अभिजीत सरकार पर्यवेक्षक नियुक्त
हैण्डबाल फेडरेशन ऑफ इण्डिया की कार्यकारिणी बैठक 27 सितम्बर को बाबू बनारसी दास बैडमिंटन अकादमी के सभागार में होगी। बैठक में सात प्रमुख मुद्दों पर विचार किया जाएगा। बैठक के लिए भारतीय ओलंपिक संघ ने अभिजीत सरकार को पर्यवेक्षक नियुक्त किया है। अभिजीत सरकार भारतीय ओलंपिक संघ की कार्यकारिणी के सदस्य हैं। संघ के महासचिव आनंदेश्वर पाण्डेय ने बताया कि बैठक में कार्यकारिणी के 19 सदस्यों ने मौजूद रहेंगे।