अडाणी ग्रुप ने एयरपोर्ट संचालन की डील कैंसल कर दी

0
18

नई दिल्ली
कोरोना वायरस संकट (Coronavirus Crisis) के कारण एविएशन इंडस्ट्री (Aviation Sector) पर सबसे ज्यादा बुरा असर हुआ है। ऐसे में अडाणी ग्रुप (Adani group) ने कहा कि वह इस साल प्राइवेट एयरपोर्ट अहमदाबाद (Ahmadabad airport), लखनऊ और मंगलुरू का संचालन नहीं कर सकता है। इंफ्रा सेक्टर की कंपनी अडाणी ग्रुप ने force majeure clause का इस्तेमाल कर डील फिलहाल कैंसल कर दी है।

अगस्त में होने वाले पेमेंट को भी टालने की अपील
वर्तमान में तीनों एयरपोर्ट का संचालन अडाणी ग्रुप के पास है। अडाणी ग्रुप ने एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया से यह भी कहा है कि वह अगस्त में होने वाले पेमेंट को दिसंबर 2020 तक के लिए टाल दे। यह राशि करीब 1000 करोड़ रुपये है।

14 फरवरी को अडाणी ग्रुप और AAI के बीच हुई थी डील
अडाणी ग्रुप ने 2018 में छह एयरपोर्ट- अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलुरू, त्रिवेन्द्रम, जयपुर और गुवाहाटी के संचालन की बोली जीती थी। इन छह एयरपोर्ट का संचालन वह एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ मिलकर करता है। इस साल 14 फरवरी को उसने AAI के साथ लखनऊ, अहमदाबाद और मंगलुरू एयरपोर्ट के मेटिनेंस, डिवेलपमेंट और ऑपरेशन को लेकर अग्रीमेंट भी साइन किया था।

2000 करोड़ रुपये है फीस
इस डील को लेकर total asset transfer fees करीब 2000 करोड़ रुपये है। यह जानकारी मामले से जुड़े दो सूत्रों ने दी है। इसमें कॉन्ट्रैक्टर पेमेंट और डिवेलपमेंट फीस शामिल है।

नवी मुंबई एयरपोर्ट का भी काम अटक सकता है
जानकारी के मुताबिक, GVK Group ने भी सिडको (CIDCO) के साथ force majeure clause की मांग की है। उसने कहा कि वह नवी मुंबई एयरपोर्ट (Navi Mumbai airport) के कंस्ट्रक्शन काम को फिलहाल टालने के लिए मजबूर होगा। यह प्रॉजेक्ट 16 हजार करोड़ रुपये का है।