अगर BJP जीती तो वहां भी बनेगा लव जिहाद विरोधी कानून, केरल में बीजेपी का ऐलान

0
20

बेंगलुरु
देश के पांच राज्‍यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। जिन पांच राज्‍यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं उनमें दक्षिण का केरल राज्‍य भी शामिल है। पिछले लोकसभा चुनाव में अपना वोट प्रतिशत बढ़ा चुकी भारतीय जनता पार्टी इस विधानसभा चुनाव को जीतने के लिए अपना पूरा दम लगा रही है। केरल को लेकर शनिवार को भाजपा ने बड़ा ऐलान कर दिया। भाजपा प्रदेश अध्‍यक्ष के सुरेन्‍द्रन ने कहा अगर केरल में बीजेपी की सरकार बनती है तो वहां पर भी उत्‍तर प्रदेश की तरह लव जिहाद विरोधी कानून लागू किया जाएगा । भाजपा के राज्य प्रमुख के सुरेंद्रन ने ये बयान शनिवार को दिया।

 उन्‍होंने कहा केरल में अगर 6 अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनावों में सत्ता में लाने के लिए उसके पक्ष में मतदान होता है तो 'लव जिहाद' को रोकने के लिए एक कानून लाएंगे। सुरेंद्रन ने कहा कि ईसाई लड़कियां भी इसका निशाना बन रही हैं। ईसाई लड़कियों को फंसा कर उनको मुसलमान बनाया जा रहा है। ईसाई समुदाय इसके बारे में अधिक चिंतित था क्योंकि वे कथित तौर पर लक्षित थे, और इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की थी। लव जिहाद केरल में उत्तर प्रदेश की तुलना में अधिक प्रचलित है उन्‍होंने कहा "लव जिहाद केरल में उत्तर प्रदेश की तुलना में अधिक प्रचलित है और इसे रोकने के लिए एक कानून की आवश्यकता है। राज्य में ईसाई समुदाय चिंतित है और उसने लव जिहाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। यह उनके लिए गंभीर चिंता का विषय है। 

भाजपा शासित उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश ने पहले धार्मिक स्वतंत्रता कानून लाए थे ताकि शादी या किसी अन्य धोखाधड़ी के माध्यम से धर्मांतरण को रोका जा सके। भाजपा इन पार्टियों से कोई समझौता नहीं करेगी पार्टी की वरिष्ठ नेता शोभा सुरेंद्रन के बयान पर केरल भाजपा अध्‍यक्ष ने सफाई दी और कहा केरल में भाजपा इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (आइयूएमएल), माकपा और कांग्रेस के साथ कभी हाथ नहीं मिलाएगी। उन्‍होंने आगे कहा लेकिन उन दलों को छोड़कर आए नेताओं को भाजपा में अवश्‍य शामिल करेगी। । सात मार्च को इस यात्रा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी भाग ले सकते हैं। 21 फरवरी को केरल के कासरगोड से शुरू हुई विजय यात्रा 21 फरवरी को केरल के कासरगोड से शुरू हुई विजय यात्रा में पलक्कड़ पहुंचे सुरेंद्रन पत्रकारों से वार्ता की। इस यात्रा को भाजपा के चुनाव अभियान के आधिकारिक लॉन्च के रूप में देखा गया था। विभिन्न केंद्रीय मंत्रियों और भगवा पार्टी के लोकप्रिय नेताओं और राष्ट्रीय स्तर पर स्टार प्रचारकों के आने वाले दिनों में यात्रा में शामिल होने की उम्मीद है।