मालिक के घर से सोने की चेन चुराने वाले दो आरोपी नौकर गिरफ्तार

0
66
Two accused arrested for stealing gold chain from owner's house

15 दिनों में ही पुलिस ने किया चोरी की वारदात का खुलासा

amjad khan
शाजापुर। अज्ञात चोरों द्वारा की गई चोरी की घटना का पुलिस ने खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही इनके कब्जे से चोरी गया सामान भी बरामद किया गया है। गौरतलब है कि गत 6 अगस्त को स्थानीय कसेरा बाजार निवासी विमल पिता रामचंद्र कसेरा के घर अज्ञात चोरों ने धावा बोलते हुए 80 हजार रुपए कीमत की दो सोने की चेन चोरी करली थी। मामले में फरियादी ने कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद पुलिस अधीक्षक शैलेंंद्रसिंह चौहान के निर्देशन में और एएसपी श्रीमती ज्योति ठाकुर, एसडीओपी देवेंद्र यादव, थाना प्रभारी राजेंद्र वर्मा के मार्गदर्शन में उप निरीक्षक मनोज सेंधव ने घटना की जांच शुरू की। मामले में सूक्ष्मता से जांच करने पर फरियादी की दुकान पर काम करने वाले नौकरों पर संदेह हुआ, जिस पर उनसे पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान होकमसिंह पिता सोनारसिंह राजपूत निवासी ग्राम जादमी और राजेश पिता बंशीलाल प्रजापत निवासी करेड़ी ने सोने की चेन चोरी करना स्वीकार किया। पुलिस ने आरोपी होकमसिंह से सोने की चेन मय पेंडिल कीमत 30 हजार रुपए और राजेश के पास से 17 ग्राम वजनी सोने की चेन कीमत 50 हजार रुपए बरामद की। दोनों आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया।

Two accused arrested for stealing gold chain from owner's houseनौकर ही निकले चोर
अपने ही मालिक के घर चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपी नौकरों को पुलिस ने बेनकाब कर दिया है। जांच अधिकारी मनोज सेंधव ने बताया कि वरिष्ठ अधिकारियों के दिशा-निर्देश में उन्होने कसेरा बाजार क्षेत्र में हुई चोरी की घटना की बारिकी से तफ्तीश करना शुरू किया। जांच के दौरान फरियादी विमल कसेरा की बर्तन दुकान पर काम करने वाले नौकर होकमसिंह और राजेश पर संदेह हुआ। इसके बाद जब आरोपियों से घटना को लेकर पूछताछ की गई तो उन्होने चोरी की घटना को अंजाम देना कबूल किया। उल्लेखनीय है कि उनि मनोज सेंधव की मेहनत और प्रयासों के चलते कसेरा बाजार में हुई चोरी की घटना का महज 15 दिनों में ही खुलासा हो गया है और घटना को अंजाम देने वाले आरोपी हवालात पहुंच गए हैं। चोरों को गिरफ्तार करने और उनसे मशरूका बरामद करने में श्री सेंधव के साथ सउनि उधमसिंह रघुवंशी, आरक्षक विशाल पटेल, आरक्षक मुकेश पटेल, विनोद पटेल का सराहनीय योगदान रहा।