पारं परिक रीति-रिवाज से मनाया तान्हा पोला

0
130
Traders celebrated with traditional customs

बैलों को आकर्षक सजावट कर की पूजा अर्चना

pradeep sarathe
बालाघाट। सावन मास के बाद भादों में रोपा लगाने का कार्य समाप्ति के बाद बैलों की पूजा अर्चना का पर्व तान्हा पोला नगर सहित ग्रामीण अंचलों में धूमधाम से पार परिक रीति-रिवाज अुनसार मनाया गया। किसानों ने अपने बैलजोड़ी को रंग रोगन कर आकर्षक सजावट कर पोला मैदान में लाया।

Traders celebrated with traditional customsनगर के समीप मॉयल नगरी भरवेली व ग्राम पंचायत भटेरा में पोला पर्व के अवसर पर खेल मैदान में पोला भराया गया। ग्रामीण कृषकों द्वारा पर परानुसार बैलों को बैण्ड बाजों की धुनों के साथ घर से सजावट कर गांव के मैदान में जमा किया गया। भरवेली में आरती की थाल सजाकर लाया गया। मैदान से सभी किसान बैलजोड़ी के साथ रैली के रूप में पोला मैदान पहुंचे। जहां अतिथियों व ग्राम के प्रबुद्धजनों द्वारा बैलों को तिलक लगा आरती उतारकर पूजा कर बैल दौड़ाया गया। प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी आकर्षक सजावट के लिए पहले से आठवें स्थान प्राप्त करने वाले बैलजोड़ी के मालिकों को पुरस्कार दिया गया। प्रथम पुरस्कार होम थिएटर, द्वितीय पंखा सहित अन्य ईनाम दिया गया। मारबत आज
पोला पाटन के दूसरे दिन मारबत (नारबोद) पर्व मंगलवार को मनाया जाएगा। मारबत के पुतला दहन के लिए शोभायात्रा निकाली जाएगी। ढोल नगाड़ों के साथ घेऊन जा री नारबोद के नारों के साथ गांव व नगर की सीमा के बाहर मारबत का पुतला जलाया जाएगा।